होम / वायरल

यूपी के लाल वीर महान ने विदेशी रेसलरों को जमकर कूटा, जानिए रिंकू सिंह के बारे में अनसुनी बातें

वीर महान उर्फ रिंकू सिंह ने 10 मई को हुए मुकाबले में उन्होंने कई विदेशी रेसलरों को बर्बाद कर दिया। माथे पर त्रिपुंड, लंबी दाढ़ी और बड़े बाल, सीने पर मां नाम का टैूट और बाजू पर राम का नाम गुदा है। जानिए उनकी कहानी।

नई दिल्ली: दुनिया भर में डब्यूडब्यूई (WWE) के करोड़ों फैंस हैं। द ग्रेट खली के बाद डब्यूडब्यूई की दुनिया में वीर महान (Veer Mahaan) उर्फ रिंकू सिंह (Rinku Singh) ने खलबली मचा दी है। वीर महान का जलवा ऐसा की विदेशी रेसलरों की उनको देखते ही हालत खराब हो जाती है। शिव के भक्त वीर महान जब रिंग में उतरते हैं तो दुश्मनों के दांत खट्टे हो जाते हैं।

वीर महान के अनोखे स्टाइल के दीवाने फैंस

भोले के भक्त वीर महान का अनोखा स्टाइल सबसे ध्यान अपनी ओर खींचता है। माथे पर त्रिपुंड, लंबी दाढ़ी और बड़े बाल, सीने पर मां नाम का टैूट और बाजू पर राम का नाम गुदा हुआ है। वीर महान गले में रुद्राक्ष की माला, भगवा गमछा और काली धोती पहनकर रिंग में उतरते हैं तो साफ जाहिर हो जाता है कि वो भारतीय सभ्यता और भगवान शिव के बड़े भक्त हैं।  वीर महान की लंबाई 6 फुट 4 इंच  और वजन 125 किलो है। जब वह रिंग में दहाड़ते हुए उतरते हैं तो ऐसा लगता है जैसे कोई वीर पुरुष राक्षसों का वध करने के लिए मैदान में उतरा हो। 

इसे भी पढ़ें- एक दूल्हा और तीन दुल्हनें, एक ही मंडप में हुई अनोखी शादी

वीर महान के जीवन का संघर्ष 

वीर महान उर्फ रिंकू सिंह का ने 4 अप्रैल 2022 को डब्यूडब्यूई के रिंग में कदम रखा था और उन्होंने पित्रा पुत्र की जोड़ी रे मिस्टोरियो और डामिनिक मिस्टीरियो को धूल चटाकर सबको हैरान कर दिया था। भले ही आज वीर महान दुनिया में भारत का नाम रोशन कर रहे हैं लेकिन इसके पीछे का संघर्ष जानकर आप भी उनकी तारीफ में कसीदे पढ़ते नहीं थकेंगे।  

वीर महान के आगे कोई पहलवान नहीं टिकता 80 सेकेंड

डब्लूडब्लूई में भारतीय पहलवान वीर महान का जलवा कायम है। अब तक कोई भी पहलवान उनके सामने दो मिनट भी नहीं टिक पाया है। डब्लूडब्लूई रॉ में इस हफ्ते उनका सामना स्थानीय पहलवान फ्रैंक लोमैन से हुआ। वीर के सामने फ्रैंक सिर्फ 80 सेकेंड में हार मान गए। वीर ने शुरुआत में विपक्षी पहलवान की पिटाई की, लेकिन फ्रैंक ने भी उन पर पलटवार किए, जिससे उन्हें गुस्सा आ गया और उन्होंने फ्रैंक को जकड़ लिया। इसके बाद फ्रैंक के पास हार मानने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। 

एक कमरे में गुजरा वीर महान का बचपन

वीर महान का जन्म उत्तर प्रदेश के भदोही के ज्ञानपुर तहसील के होलपुर गांव में हुआ था। 33 साल के वीर महान के पिता ब्रहमदीन सिंह ट्रक डाइवर चलाकर परिवार का पालन पोषण किया करते थे। रिंकू अपने चार भाईयों में सबसे छोटे हैं और उनका बचपन एक कमरे में गुजरा। वह बचपन में भाला फेंक और क्रिकेट खेलते थे। भाला फेंक में उन्होंने जूनियर नेशनल में मेडल भी जीता। 

बेसबॉल जीतकर बदली किस्मत

वीर महान उर्फ रिंकू सिंह की किस्मत ने साल 2008 में अचानक रंग बदला। जब उन्होंने अमेरिकी टेलीविजन शो मिलियन डालर आर्म कांपटिशन जीत लिया। यह शो बेसबाल को तेज फेंकने वाले खिलाडिय़ों का टेलेंट हंट शो था। रिंकू ने इससे पहले कभी बेसबाल नहीं खेली थी लेकिन मजबूत कंधे और भाला फेंकने के अनुभव का फायदा मिला और 87 मील प्रतिघंटा की गति से बेसबाल फेंककर 37000 प्रतियोगियों में एक लाख डालर की यह प्रतियोगिता जीत ली। उन्होंने पेशेवर बेसबाल लीग में खेलने वाले पहले भारतीय बनने का गौरव हासिल किया। 

इसे भी पढ़ें- मार्केट में आया समोसे का नया वर्जन, कीमत और आकार चकरा देगा आपका सिर 

2021 में अपनी टीम से अलग होकर बने स्वतंत्र रेसलर

वीर महान ने 2018 में दुबई में डब्ल्यूडब्ल्यूई की दुनिया में कदम रखा। उन्होंने एक अन्य भारतीय सौरभ गुर्जर के साथ टीम बनाई। दोनों ने डब्ल्यूडब्ल्यूई एनएक्सटी में भाग लिया। उनकी टीम में जिंदर महाल भी जुड़े लेकिन 2021 में टीम अलग हो गई और रिंकू स्वतंत्र रेसलर के रूप में डब्ल्यूडब्ल्यूई रा से जुड़ गए। जिसके बाद उन्होंने अपना नाम वीर महान रख लिया। 

वायरल से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें  Viral News In Hindi   

You can share this post!

मंदिर में नग्न हुई मॉडल, सोशल मीडिया पर मचा बवाल

इस एक चिप्स की कीमत है 1.90 लाख रुपये, वजह जान रह जाएंगे हैरान

Leave Comments