होम / उत्तर प्रदेश

UP Election 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई BJP MLA सपा में शामिल, किया ऐलान-ये बीजेपी के अंत की शुरुआत

वह बोले कि मकर संक्रांति बीजेपी के अंत का इतिहास रचने जा रहा है। जो बीजेपी के लोग कुंभकर्णी नींद सो रहे थे उनको अब नींद ही नहीं आ रही है।

तस्वीर: Twitter/ANI

लखनऊ: यूपी चुनाव से पहले बीजेपी का हाथ छोड़कर स्वामी प्रसाद मौर्य की अगुवाई में कई बड़े नेताओं, विधायकों ने समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया। उनके साथ धर्म सिंह सौनी और 6 विधायकों ने भी सपा का दामन थामा। इसके अलावा कुछ अन्य नेताओं, पूर्व विधायकों ने भी सपा का दामन थामा। अखिलेश यादव इस दौरान मंच पर मौजूद थे।

मकर संक्रांति से बीजेपी के अंत की शुरुआत

सपा में शामिल होने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी पर हमला बोला। वह बोले कि मकर संक्रांति बीजेपी के अंत का इतिहास रचने जा रहा है। जो बीजेपी के लोग कुंभकर्णी नींद सो रहे थे उनको अब नींद ही नहीं आ रही है। पहले वे लोग हमारी बात नहीं सुनते थे। उन्होंने कहा कि बीजेपी के कुछ लोग कहते हैं कि पांच साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया। कुछ कहते हैं बेटे के चक्कर में बीजेपी छोड़ी है। मैं बताना चाहता हूं कि बीजेपी ने गरीबों, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों की आंख में धूल झोंककर सत्ता हथियाई थी। सरकार बनाएं दलित और पिछड़े, मलाई खाएं अगड़े, पांच फीसदी लोग। स्वामी बोले कि 85 तो हमारा है, 15 में भी बंटवारा है।



बीजेपी को यूपी में बड़ा सियासी नुकसान!

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले यह बीजेपी के लिए बड़ा सियासी नुकसान माना जा रहा है। बीजेपी छोड़ सपा में शामिल होने से पहले स्‍वामी प्रसाद मोर्य ने दावा किया था कि बीजेपी के कई विधायक भगवा पार्टी को अलविदा कहने वाले हैं, और ऐसे विधायकों की लंबी कतार है। अब इस बात की अटकलें तेज हैं कि योगी सरकार के कई और मंत्री , विधायक भी इस्तीफा दे सकते हैं। 

एक दर्जन से ज्यादा विधायक छोड़ेंगे बीजेपी!

समाजवादी पार्टी में शामिल होने वाले स्वामी प्रसाद मौर्या ने दावा किया है कि राज्य में एक दर्जन से ज्यादा विधायक बीजेपी को छोड़ने की तैयारी में हैं और जल्द ही वह बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि अभी तक बीजेपी ने कई नेताओं को झटका दिया और अब मैं उसे झटका दे रहा हूं। उन्होंने अपनी बेटी संघमित्रा गौतम को लेकर कहा था कि वह बीजेपी सांसद बनी रहेंगी। यानी साफ है कि मौर्या के साथ उनकी बेटी एसपी में नहीं जा रही हैं।

You can share this post!

मुजफ्फरनगर दंगा 2013: 4 आरोपी सबूतों के अभाव में बरी, तोड़फोड़-लूट का था आरोप

यूपी : वृक्षारोपण अभियान से हरित क्षेत्र में हुई वृद्धि

Leave Comments