होम / राज्यों की खबरें

त्रिपुरा के CM बिप्लब देब का इस्तीफा, मुख्यमंत्री पद के लिए ये नाम हैं सबसे आगे

त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने शनिवार को त्रिपुरा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

नई दिल्ली: त्रिपुरा के सीएम बिप्लब कुमार देब (Biplab Kumar Deb) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने शनिवार को त्रिपुरा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। बिप्लब देब ने शुक्रवार को गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी, जिसके बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। थोड़ी ही देर में बीजेपी विधायक दल की बैठक होगी जिसमें नए सीएम के नाम पर चर्चा होगी। बीजेपी आलाकमान ने केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव और बीजेपी महासचिवल विनोद तावड़े को त्रिपुरा का पर्यवेक्षक बनाया है। 

सीएम पद के लिए इन नामों की चर्चा

बिप्लब देब के इस्तीफे के बाद से ही नये सीएम को नाम को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। सीएम के लिए डॉ माणिक साहा, उप मुख्यमंत्री जिष्णु देब बर्मन और केंद्रीय राज्य मंत्री प्रतिमा भौमिक का नाम सामने आये हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, अगर साहा को सीएम पद की कमान दी जाती है तो बिप्लब देब को राज्यसभा भेजा जा सकता है।

इसे भी पढ़ें- ज्ञानवापी सर्वे पर भड़के ओवैसी, बोले- "एक मस्जिद हम पहले ही खो चुके हैं, अब और..."

 सामान्य कार्यकर्ता के रूप में काम करूंगा- बिप्लब देब

बिप्लब देब ने इस्तीफा देने के बाद कहा कि 'राज्य में बीजेपी का आधार मजबूत करने के लिए मुझे विभिन्न क्षेत्रों में जमीनी स्तर पर काम करने की जरूरत है। आगामी विधानसभा चुनावों में फिर से बीजेपी सरकार बनाने के लिए सीएम की स्थिति में रहने के बजाय मुझे एक सामान्य कार्यकर्ता के रूप में काम करना चाहिए।' 

पार्टी और संगठन में फेरबदल था तय

त्रिपुरा में 2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसी को देखते हुए पार्टी और संगठन में फेरबदल की अटकलें पहले से ही लगाई जा रही थी। वरिष्ठ आदिवासी नेता बिकास देबबर्मा को पार्टी के अनुसूचित जनजाति मोर्चे का अध्यक्ष बनाया गया है। उन्होंने सांसद रेबती त्रिपुरा का स्थान लिया है। इसके साथ ही पार्टी ने रामपदा जमातिया को मोर्चा का पर्यवेक्षक बनाया है।

इसे भी पढ़ें- Mahindra Bolero 2022 का किलर लुक आया सामने, SUV की खासियतें चुरा लेंगी आपका दिल

विधान सभा चुनाव पर पूरा फोकस 

पार्टी ने बताया कि प्रदेश इकाई ने 12 जिला पर्यवेक्षक और सह-पर्यवेक्षक भी नियुक्त किए हैं। पार्टी ने जनजाति मोर्चा, महिला मोर्चा, ओबीसी मोर्चा, युवा मोर्चा और अल्पसंख्यक मोर्चा जैसे अन्य संगठनों के लिए 8 पर्यवेक्षक नियुक्त किए हैं। प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष माणिक साहा ने शुक्रवार को पीटीआई-भाषा से कहा, 'पार्टी नेताओं के बीच काम बांटने की यह नियमित कवायद है। जाहिर है, यह अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखकर किया जा रहा है।' 

राज्यों से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें State News In Hindi

 

 

You can share this post!

मुंडका अग्निकांड में अब तक 24 महिलाएं और 5 पुरुष लापता, 29 की दर्दनाक मौत

New CM of Tripura: त्रिपुरा में बिप्लब देब गए माणिक साहा आए

Leave Comments