होम / खेल-खिलाड़ी

तीसरे टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका ने टीम इंडिया को 7 विकेट से हराया, सीरीज पर 2-1 से कब्जा

दक्षिण अफ्रीका ने इस जीत के साथ उन्होंने सीरीज पर भी 2-1 से कब्जा कर लिया। इसके साथ ही भारत का एक बार फिर से अफ्रीकी जमीन पर सीरीज जीतने का सपना टूट गया।

केपटाउनः भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रहा सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच मेजबान टीम ने 7 विकेट से जीत लिया है। इस जीत के साथ मेजबानों ने टीम इंडिया का दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीतने के सपने पर पानी फेर दिया है। मेजबान टीम की ओर से पहले कीगन पीटरसन (82) फिर रस्सी वैन डेर डूसन (41) और टेम्बा बावुमा (32) की शानदार नाबाद पारियों की बदौलत न्यूलैंड्स में शुक्रवार को तीसरे और निर्णायक मैच में चौथे दिन मेजबान टीम ने टीम इंडिया पर शानदार जीत हासिल की। 

दक्षिण अफ्रीका ने इस जीत के साथ उन्होंने सीरीज पर भी 2-1 से कब्जा कर लिया। इसके साथ ही भारत का एक बार फिर से अफ्रीकी जमीन पर सीरीज जीतने का सपना टूट गया। भारतीय टीम के 212 रनों के जवाब में साउथ अफ्रीका ने 63.3 ओवरों में तीन विकेट के खोकर 212 रन बना दिए। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और शार्दुल ठाकुर ने एक-एक विकेट लिया।

लंच के बाद दूसरे सत्र में साउथ अफ्रीका को 41 रन जीत के लिए चाहिए थे, जिसके बाद 171/3 से आगे खेलते हुए साउथ अफ्रीका ने शानदार खेल जारी रखा। डूसन और बावुमा ने भारतीय गेंदबाजों का जमकर सामना किया। दोनों ने तेज गति से रन बटोरते हुए महज 40 मिनटों में ही 41 रन बनाकर मैच को अपने नाम कर लिया। इस बीच, डूसन (41) और बावुमा (32) रन बनाकर नाबाद रहे। दोनों ने मिलकर 105 गेंदों में 57 रनों की साझेदारी की, जिससे साउथ अफ्रीका ने 63.3 ओवरों में ही तीन विकेट खोकर 212 रन बनाकर जीत हालिस कर ली। इसी के साथ भारत का एक बार फिर से अफ्रीकी जमीन पर सीरीज जीतने का सपना टूट गया।

इससे पहले, चौथे दिन पहले सत्र में 101/2 से आगे खेलते हुए साउथ अफ्रीका टीम काफी अच्छी शुरुआत की। पीटरसन और डूसन ने भारतीय पेसरों पर हावी दिखाई दिए। इस बीच, पीटरसन ने शमी की गेंद पर दो रन बनाकर लगातार दूसरी पारी में अपना अर्धशतक पूरा किया। वहीं, चेतेश्वर पुजारा ने जसप्रीत बुमराह की गेंद पर पीटरसन का आसान मौका गंवा दिया।

हालांकि इसके बाद पीटरसन ने तेज गति से रन जोड़े और टीम का स्कोर 150 के पार पहुंचा दिया। अब जीतने के लिए महज 62 रन चाहिए थे। लेकिन शार्दुल ठाकुर ने साउथ अफ्रीका को तीसरा झटका दिया, जब पीटरसन को बोल्ड कर पवेलियन भेजा। उन्होंने 113 गेंदों पर दस चौकों की मदद से 82 रन बनाए। इस के साथ पीटरसन और डूसन के बीच 100 गेंदों में 54 रनों की साझेदारी का भी अंत हो गया।

इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आए टेम्बा बावुमा ने डूसन के साथ मिलकर भारतीय तेज गेंदबाजों का डटकर सामना किया और टीम को और जीत के करीब ले गए, जिससे लंच तक साउथ अफ्रीका ने तीन विकेट गंवाकर 171 रन बना लिए थे। टीम को उस समय जीतने के लिए 41 रनों की जरूरत थी। रस्सी वैन डेर डूसन (22) और टेम्बा बावुमा (12) रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे।

संक्षिप्त स्कोर :

भारत 223 और दूसरी पारी में 67.3 ओवरों में 198/10 (ऋषभ पंत 100 नाबाद, कप्तान विरोट कोहली 29, मार्को जेनसेन 4/36, कगिसो रबाडा 3/53) दक्षिण अफ्रीका 210 और दूसरी पारी 63.3 ओवरों में 212/3 (कीगन पीटरसन 82, रस्सी वैन डेर डूसन नाबाद 41 और टेम्बा बावुमा नाबाद 32, मोहम्मद शमी 1/41, जसप्रीत बुमराह 1/54, शार्दुल ठाकुर 1/22)।
 

You can share this post!

ऑस्ट्रेलियाई मंत्री ने किया नोवाक जोकोविच का वीजा रद्द, वापस लौटने का दिया आदेश

अजहर से कोहली तक सात बार चूका भारत, 1992 से 2022 हाथ नहीं आई सीरीज 

Leave Comments