होम / खेल-खिलाड़ी

रूट ही रहेंगे इग्लैंड के कप्तान, अफवाहों को सिरे से नकारा

रूट ने कहा कि उनके टीम का पूरा ध्यान 26 दिसंबर से शुरु हो रहे टेस्ट को जीतने पर है। पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में इंग्लैंड 0-2 से पीछे है और एशेज पाने की उम्मीदें कम हो गई है।

जो रूट

नई दिल्ली :  एशेज में लगातार दो मैचों में मिली हार के बाद ऐसा माना जा रहा था कि जो रूट अब कप्तानी छोड़ देंगे। लेकिन जो रूट ने मीडिया से बात करने के दौरान बताया कि ये सब बातें बेबुनियाद है और सच नहीं है। जो रूट ने कप्तानी छोड़ने वाले बात को सिरे से खारिज कर दिया। रूट ने कहा कि उनके टीम का पूरा ध्यान 26 दिसंबर से शुरु हो रहे एमसीजी टेस्ट को जीतने पर है। पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में इंग्लैंड 0-2 से पीछे है और एशेज पाने की उम्मीदें कम होती जा रही हैं, क्योंकि टीम को गाबा में अपने पहले टेस्ट में नौ विकेट से शर्मनाक हार मिली थी और दूसरे टेस्ट एडिलेड ओवल में 275 रनों से हार गई थी।

शार्ट पिच डिलीवरी से नुकसान

मीडिया से बातचीत के दौरान रूट ने कहा, "केवल एक चीज जिसे लेकर मैं चिंतित हूं वह है जीत। मेलबर्न में अच्छी शुरुआत और यह सुनिश्चित करना कि हम पहले कुछ घंटों में बेहतर प्रदर्शन करें।"
कप्तान रूट ने एडिलेड हार के बाद अपनी टिप्पणी को भी स्पष्ट किया, जहां उन्होंने तेज गेंदबाजों स्टुअर्ट ब्रॉड, जिमी एंडरसन और बेन स्टोक्स की शॉर्ट-पिच डिलीवरी को टीम के लिए नुकसान बताया था। सेन रेडियो ने रूट के हवाले से कहा, "मुझे लगता है कि कई मौकों पर हमें वह गेंदें थोड़ी गलत लगी थी।"

सबकी सामूहिक गलती है

उन्होंने कहा, "ऐसा नहीं है कि तेज गेंदबाज अक्सर गलती करते हैं, क्योंकि वे सभी असाधारण गेंदबाज हैं। यह किसी एक की गलती नहीं थी, बल्कि सामूहिक रूप से सबकी गलती थी।" उन्होंने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि दूसरी पारी में गेंदबाजों ने बल्लेबाजों को अच्छा परेशान किया। लेकिन हमें पहली पारी में भी यहा करना चाहिए था, जहां खिलाड़ियों से चूक हुई। कप्तान ने यह भी कहा कि बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिए प्लेइंग इलेवन में कुछ बदलाव किए जाएंगे।

यह भी पढ़े:यूपी में लगा नाईट कर्फ्यू, शादियों में सिर्फ 200 लोगों को इजाजत

हार के बाद रणनीति बदलेंगे

हार के बाद रूट ने जोर देकर ऐलान करते हुए कहा कि इंग्लैंड मेलबर्न, सिडनी और होबार्ट में अपना खेल बदलेगा, खिलाड़ी अब आने वाले मैचों में ऐसी गलती नहीं दोहराना चाहते हैं। टीम के खिलाड़ी सर्वश्रेष्ठ हैं, वे अपने खेल को बदलने की हर एक कोशिश करेंगे। रूट ने एडिलेड टेस्ट के पांचवें दिन विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर की 207 गेंदों का सामना करने की तारीफ भी की।

You can share this post!

SA दौरे पर Team India को लेकर बंटी दिग्गजों की राय, बल्लेबाज रहेंगे हावी या गेंदबाजों का दिखेगा दम?

हरभजन ने लिया Cricket से सन्यास, IPL के साथ ही सभी फॉर्मेट को कहा अलविदा

Leave Comments