होम / खेल-खिलाड़ी

सलाखों के पीछे पहुंचा पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टार, गंभीर आरोपों में दूसरी बार हुई गिरफ्तारी

कुछ महीने पहले ये क्रिकेटर तब मुसीबत में पड़ गया था, जब उनकी पत्नी ने उनपर गंभीर आरोप लगाए थे।

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्लीः दुनिया में कई खिलाड़ी रहे हैं, जो ऑन फील्ड से ज्यादा ऑफ फील्ड चर्चा में रहते हैं। लेकिन पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर माइकल स्लेटर को जेल की हवा खानी पड़ी है। वो भी एक ही मामले में दो बार। स्लेटर पर पत्नी के साथ घरेलू हिंसा का आरोप है और जमानत की शर्तों का उल्लंघन करने की वजह से उन्हें फिर से जेल भेज दिया गया है। 

अक्टूबर में हुई थी पहली बार गिरफ्तारी

माइकल स्लेटर ऑस्ट्रेलियाई टीम के स्टार क्रिकेटर रहे हैं। मौजूदा समय में वो दुनिया के जाने-माने कमेंटेटर हैं। लेकिन वो कुछ महीने पहले तब मुसीबत में पड़ गए थे, जब उनकी पत्नी ने उन पर घरेलू हिंसा का मामला दर्ज कराया था। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। हालांकि तब वो जमानत पर छूट गए थे, लेकिन बुधवार (15 दिसंबर) को फिर से पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया, क्योंकि उन्होंने कथित तौर पर कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया, जिसे एक हिंसा आदेश या एवीओ के रुप में जाना जाता है।

पुलिस स्टेशन से नहीं मिली जमानत

ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स राज्य की पुलिस ने बताया कि माइकल स्लेटर को बुधवार सुबह दूसरी बार गिरफ्तार किया गया है। उन्हें सिडनी पुलिस स्टेशन से जाया गया, लेकिन उन्हें जमानत नहीं मिली। दरअसल, अक्टूबर महीने से स्लेटर के लिए कुछ अच्छा नहीं चल रहा है। पहली वजह तो उनका जेल जाना है और उनका घर टूटने की कगार पर है। तो दूसरी तरफ उनकी कमाई पर भी फर्क पड़ा है, क्योंकि आईसीसी और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने स्लेटर को 2021-22 सीजन की कमेंट्री पैनल से हटा दिया है।

दिग्गज क्रिकेटर रहे हैं माइकल स्लेटर

पूर्व सलामी बल्लेबाज माइकल स्लेटर ने ऑस्ट्रेलिया के लिए करीब 8 सालों तक इंटरनेशनल क्रिकेट खेला है। वो टेस्ट क्रिकेट में काफी सफल रहे थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के 74 टेस्ट मैचों में ओपनिंग की है। स्लेटर के नाम 42.83 की शानदार औसत से 5,312 रन दर्ज हैं। स्लेटर ने अपने टेस्ट करियर में 14 बार शतक बनाने का कारनामा किया है, तो उन्होंने 21 अर्धशतकीय पारियां भी खेली हैं। स्लेटर का सर्वोच्च स्कोर 219 रनों का रहा है। साल 2001 में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ लीड्स टेस्ट में आखिरी बार इंटरनेशनल क्रिकेट खेला था। उन्होंने साल 2004 में क्रिकेट को अलविदा कह दिया और कमेंट्री करने लगे। स्लेटर घरेलू क्रिकेट में काफी बड़ा नाम रहे हैं, उन्होंने 216 फर्स्ट क्लास मैचों में करीब 15 हजार रन बनाए हैं, जिसमें 36 शतक शामिल हैं।

You can share this post!

Rohit Sharma से मतभेदों को Virat Kohli ने नकारा, बोले-'कप्तानी छोड़ना अपराध नहीं'

विराट कोहली पर अभी नकेल नहीं कसेगी BCCI, टेस्ट सीरीज पर पड़ सकता है असर 

Leave Comments