होम / खेल-खिलाड़ी

IPL 2021: किसी ने एक ओवर में जड़ दिए 37 रन तो किसी ने लगातार मारे 6 चौके; जानिए यादगार लम्हे

आईपीएल 2021 का दूसरा हाफ यूएई में 19 सितंबर से शुरू होने जा रहा है। दूसरे हाफ किसी टीम के पास कोई दिग्गज गेंदबाज नहीं होगा, तो किसी को स्टार बल्लेबाज नहीं होगा।

IPL 2021: किसी ने एक ओवर में जड़ दिए 37 रन तो किसी ने लगातार मारे 6 चौके; जानिए यादगार लम्हे

नई दिल्ली: आईपीएल 2021 का सेकेंड हाफ यूएई (IPL 2021 2nd Phase) में 19 सितंबर से शुरू होने जा रहा है। दूसरे हाफ में होने वाले मैचों के दौरान किसी न किसी की कमी खलेगी किसी का स्टार गेंदबाज टीम में नहीं होगा, तो किसी को स्टार बल्लेबाज नहीं होगा। सबकी नजर आईपीएल के खिताब पर है। लीग का पहला हाफ भले ही कोरोना के कारण स्थगित करना पड़ा था, लेकिन इसमें कई यादगार मुकाबले और प्रदर्शन देखने को मिले। चाहे रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) का हर्षल पटेल के एक ओवर में 37 रन ठोकने की बात हो या फिर दिल्ली कैपिटल्स के ओपनर पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) का लगातार 6 गेंदों में 6 चौके जड़ने की घटना।

आरसीबी के तेज गेंदबाज हर्षल पटेल (Harshal Patel) ने आईपीएल 2021 में अपने पहले 4 मैच में 5.85 की इकॉनमी रेट से स्लॉग ओवर में 9 विकेट चटकाए थ। चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मुकाबला उनके लिए बुरा साबित हुआ। इस मैच में हर्षल ने सीएसके की पारी का 20वां ओवर फेंका था। नो बॉल समेत उनकी पहली 4 गेंद पर जडेजा ने 4 छक्के जड़े। अगली गेंद पर जडेजा ने 2 रन लिए और उसके अगली 2 गेंदों पर इस ऑलराउंडर ने एक छक्का और एक चौका जड़ दिया। इस तरह जडेजा ने हर्षल के एक ओवर में कुल 37 रन ठोंक डाले। यह आईपीएल इतिहास का दूसरा सबसे महंगा ओवर था।

जब सैमसन ने एक रन लेने से मना कर दिया

राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने आईपीएल 2021 की पहली सेंचुरी ठोकी थी। उन्होंने पंजाब किंग्स के खिलाफ शतकीय पारी खेली थी। हालांकि, इस मैच में उनके शतक से ज्यादा सुर्खियां उनके 1 रन ना लेने पर बनी थी। दरअसल, पंजाब किंग्स ने राजस्थान को 222 रन का टारगेट दिया था। राजस्थान इस लक्ष्य के काफी करीब पहुंच गया था। उसे आखिरी ओवर में 13 रन चाहिए थे। राजस्थान ने पहली 4 गेंद में 6 रन बना लिए थे। आखिरी 2 गेंद में राजस्थान को जीतने के लिए 5 रन की दरकार थी।

इस समय स्ट्राइक पर सैमसन थे, उन्होंने पांचवीं गेंद को लॉन्ग ऑफ की तरफ खेला. नॉन स्‍ट्राइकर एंड पर आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी क्रिस मॉरिस (Chris Morris) खड़े थे, जिन्‍हें राजस्‍थान ने इस बार की नीलामी में 16.25 करोड़ रुपये देकर खरीदा था। मगर सैमसन ने सिंगल लेने से मना कर दिया। इसके बाद मॉरिस को वापस अपनी क्रीज में लौटना पड़ा। आखिरी गेंद पर राजस्थान को 5 रन ही चाहिए थे। अर्शदीप ने ऑफ स्टम्प के बाहर की तरफ गेंद फेंकी। सैमसन ने बड़ा शॉट लगाया, लेकिन गेंद हवा में गई और वो आउट हो गए।

पृथ्वी शॉ ने लगाए एक ओवर में लगातार 6 चौके 

हर्षल के खिलाफ जडेजा ने आक्रामक बल्लेबाजी पारी के आखिरी ओवर में की थी। लेकिन दिल्ली कैपिटल्स के बल्लेबाज पृथ्वी शॉ इससे एक कदम आगे निकले और उन्होंने पहले ओवर की 6 गेंद पर लगातार 6 चौके जड़ने का कारनामा कर दिया। शॉ ने कोलकाता नाइट राइडर्स के तेज गेंदबाज शिवम मावी के ओवर में ऐसा किया था. दरअसल, मैच में कोलकाता ने दिल्ली को 155 रन का लक्ष्य दिया था। जो टी20 के लिहाज से बड़ा नहीं था। लेकिन शॉ ने पहली ही ओवर में ऐसी आतिशी बल्लेबाजी की दिल्ली के लिए यह टारगेट बौना साबित हुआ. उन्होंने शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिए 132 रन जोड़े और दिल्ली मैच 21 गेंद रहते 7 विकेट से जीत गई.

बरार ने कोहली, मैक्सवेल और डिविलियर्स को 7 गेंद में आउट किया

आईपीएल 2021 में पंजाब किंग्स के स्पिनर हरप्रीत बरार ने जो किया, वो लंबे वक्त तक याद रखा जाएगा। अपना तीसरा आईपीएल सीजन खेल रहे इस गेंदबाज के नाम एक भी विकेट नहीं था। लेकिन रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ आईपीएल 2021 के 26वें मैच में इस गेंदबाज ने सिर्फ 7 गेंद के भीतर विराट कोहली, ग्लेन मैक्सवेल और एबी डिविलियर्स जैसे दिग्गज बल्लेबाजों को आउट करते हुए टीम की जीत तय कर दी।

पोलार्ड ने CSK के खिलाफ खेली यादगार पारी

मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर कायरान पोलार्ड ने आईपीएल 2021 के पहले हाफ में सीएसके के खिलाफ ऐसी पारी खेली थी, जिसे लंबे वक्त तक याद रखा जाएगा. दरअसल, सीएसके ने मुंबई को 219 रन का लक्ष्य दिया था। 10वें ओवर में जब पोलार्ड बल्लेबाजी के लिए आए तो मुंबई का स्कोर 3 विकेट के नुकसान पर 81 रन था। टीम को जीतने के लिए 13 के रन रेट से रन बनाने थे। तभी पोलार्ड ने अपना गियर बदला और बाउंड्री की बरसात कर दी। पहले उन्होंने जडेजा के ओवर में 3 और फिर लुंगी एनगिडी के ओवर में 2 छक्के उड़ाए। शार्दुल ठाकुर का भी यही हाल किया।

मुंबई को आखिरी ओवर में 16 रन चाहिए थे। एनगिडी ने यह ओवर डाल रहे थे। नॉन स्ट्राइकर एंड पर धवल कुलकर्णी थे। इसलिए पोलार्ड ने सभी 6 गेंद खेलने का फैसला किया। उन्होंने पहली और चौथी गेंद पर सिंगल नहीं लिया, जबकि बीच की दो गेंद पर चौका जड़ दिया। अब टीम को 2 गेंद में 8 रन चाहिए थे। एनगिडी ने फुलटॉस फेंकी, जिस पर पोलार्ड ने छक्का जड़ दिया। इसके बाद आखिरी गेंद पर पोलार्ड ने 2 रन भागकर मैच मुंबई की झोली में डाल दिया। वो 34 गेंद में 87 रन बनाकर नाबाद रहे।

You can share this post!

IPL 2021: प्रैक्टिस मैच में एबी डिविलियर्स की तूफानी सेंचुरी, विराट कैंप में खुशी की लहर

विराट कोहली ने किया ऐलान, वर्ल्ड कप के बाद वो नहीं रहेंगे T-20 टीम के कप्तान

Leave Comments