होम / खेल-खिलाड़ी

6.3 ओवरों में जीतकर रन रेट में दूसरे नंबर पर पहुंची टीम इंडिया, लेकिन न्यूजीलैंड की हार से ही खुलेगा रास्ता!

अगर न्यूजीलैंड अपना आखिरी मुकाबला अफगानिस्तान से हार जाती है, और टीम इंडिया अगल मुकाबला जीत जाती है तो बेहतर रन रेट के आधार पर टीम इंडिया सेमीफाइनल में पहुंच जाएगी।

तस्वीर: Twitter/BCCI

दुबई: टीम इंडिया ने स्कॉटलैंड को 6.3 ओवरों में ही 8 विकेट से हराकर नेट रन रेट में दूसरा स्थान हासिल कर लिया है। स्टॉटलैंड ने टीम इंडिया को 86 रनों का टारगेट दिया था, जिसे के एल राहुल के शानदार अर्धशतक और रोहित शर्मा के 30 रनों की बदौलत टीम इंडिया ने 6.3 ओवरों में हासिल कर लिया। सूर्य कुमार यादव ने विजयी शॉट लगाया और वो 2 गेंदों पर 6 रन बनाकर नाबाद रहे। उन्होंने छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई। दूसरे छोर पर विराट कोहली 2 गेंदों पर 2 रन बनाकर नाबाद रहे। मैच में शानदार गेदबाजी कर तीन विकेट झटकने वाले रविंद्र जाडेजा को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

7.1 ओवरों में जीतकर रन रेट में ऊपर पहुंचने का था लक्ष्य, लेकिन अब न्यूजीलैंड की हार जरूरी

टीम इंडिया के सामने 86 रन 7.1 ओवरों में ही बनाने का लक्ष्य था, ताकि वो वो अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड दोनों ही टीमों से रन रेट में आगे निकल जाए। हुआ भी वही, और टीम ने ये रन बनाकर अपना रन रेट 1.619 पहुंचा लिया। हालांकि अगर न्यूजीलैंड अपना आखिरी मुकाबला अफगानिस्तान से हार जाती है, और टीम इंडिया अगल मुकाबला जीत जाती है तो बेहतर रन रेट के आधार पर टीम इंडिया सेमीफाइनल में पहुंच जाएगी। लेकिन अगर अफगानिस्तान न्यूजीलैंड को बड़े अंतर से हराता है और टीम इंडिया आखिरी मैच बड़े अंतर से नहीं जीत पाती तो अफगानिस्तान के लिए भी रास्ते खुले हुए हैं। वहीं, न्यूजीलैंड अगर अफगानिस्तान को किसी भी अंतर से हरा देता है, तो वो सेमीफाइनल में पहुंच जाएंगे। न्यूजीलैंड की टीम के पास 4 मैचों में 6 अंक है, जबकि भारत और अफगानिस्तान के पास 4 मैचों में 4-4 अंक है। ऐसे में टीम इंडिया यही चाहेगी कि अफगानिस्तान थोड़े से अंतर से न्यूजीलैंड को हरा दे और भारत अगला मैच बड़े अंतर से जीत जाए।

स्कॉटलैंड ने दिया था 86 रनों का टारगेट

इससे पहले, स्कॉटलैंड की टीम ने भारत के सामने 86 रनों का लक्ष्य रखा था। भारतीय टीम ने स्कॉटलैंड को 17.4 ओवरों में 85 रनों के कुल योग पर ऑल आउट कर दिया। स्कॉटलैंड के लिए ओपनर जॉर्ज मनसे ने 24 रन बनाए। मिचेल लिएस्क 21 रन बनाकर दूसरे सबसे बड़े स्कोरर रहे, तो कैलम मैक्लॉएड ने 16 रन बनाए वहीं मार्क वॉट 14 रन बनाकर आउट हुए। इसके अलावा  कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा तक नहीं छू सके। स्कॉटलैंड के तीन बल्लेबाज तो खाता भी नहीं खोल सके। टीम इंडिया की तरफ से रविंद्र जाड़ेजा और मोहम्मद शमी ने 3-3 विकेट लिए। वहीं, जसप्रीत बुमराह को 2 विकेट तो रविचंद्रन अश्विन को एक विकेट मिला। एक बल्लेबाज रन आउट हुआ। शमी के 17वें ओवर की पहली तीन गेंदों पर 3 विकेट गिरे, जिसमें दूसरा विकेट रन आउट के तौर पर आया।

भारत ने टॉस जीता, पहली बार चुनी गेंदबाजी

आईसीसी टी-20 विश्वकप के इस सीजन में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पहली बार टॉस जीता और गेंदबाजी का फैसला लिया। ये मैच भारत के लिए बेहद अहम था, और भारतीय टीम इस मैच को बड़े अंतर से जीतना चाहेगी। भारतीय टीम ने इस मैच के लिए एक बदलाव किया और शार्दूल ठाकुर की जगह वरुण चक्रवर्ती की टीम में वापसी हुई। पिछले मैच में वो खिंचाव की समस्या के चलते मैदान पर नहीं उतर सके थे। 

दोनों टीमें इस प्रकार रही

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, के एल राहुल, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, हार्दिक पांड्या, रविंद्र जाडेजा, वरुण चक्रवर्ती, मोहम्मद शमी, आर अश्विन और जसप्रीत बुमराह।

स्कॉटलैंड: जॉर्ज मनसे, काइल कोएत्जर (कप्तान), कैलम मैक्लेओड, रिची बेरिंगटन, मिचेल लिएस्क, मैथ्यू क्रॉस (विकेटकीपर), क्रिस ग्रीव्स, मार्क वॉट, सैफ्यान शेरिफ, एलेडेयर इवांस और ब्रैड ह्वील।

You can share this post!

Scotland Vs India: भारत ने स्कॉटलैंड को कुछ ऐसे दी मात, अब न्यूजीलैंड-अफगानिस्तान मैच पर नजर

AUSvWI: ऑस्ट्रेलिया ने वेस्टइंडीज को 8 विकेट से हराया, सेमीफाइनल में पहुंचने की बढ़ी उम्मीद

Leave Comments