होम / खेल-खिलाड़ी

SRHvsCSK: प्ले ऑफ में पहुंचने वाली पहली टीम बनी चेन्नई सुपरकिंग्स, धोनी ने छक्का मार कर दिलाई जीत

शरजाह में खेले गए आईपीएल के 44वें मुकाबले में सीएसके ने सनराइजर्स हैदराबाद को 6 विकेट से हरा दिया। इस जीत के साथ ही चेन्नई सुपरकिंग्स प्ले ऑफ में जगह बनाने वाली पहली टीम बन गई है।

तस्वीर: Twitter/ChennaiIPL

शरजाह: आईपीएल के 44वें लीग मुकाबले में सीएसके ने सनराइजर्स हैदराबाद को 6 विकेट से हरा दिया। इस जीत के साथ ही चेन्नई सुपरकिंग्स प्ले ऑफ में जगह बनाने वाली पहली टीम बन गई है। हैदराबाद ने चेन्नई सुपरकिंग्स के सामने 135 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे सीएसके ने 19.4 ओवरों में 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। सीएसके को आखिरी ओवर में जीत के लिए 3 रनों की जरूरत थी, जिसे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने छक्के के साथ हासिल कर लिया। उन्होंने टीम को जब जीत के लिए 2 रन चाहिए थे, तो सिद्धार्थ कौल की गेंद पर धोनी ने छक्का जड़ दिया।

सीएसके के बल्लेबाजों का सधा प्रदर्शन

चेन्नई सुपरकिंग्स ने जीत के लिए मिले 135 रनों के लक्ष्य का पीछा शानदार अंदाज में किया। उसके ओपनरों ने पहले विकेट के लिए 10.1 ओवरों में 71 रनों की साझेदारी की। इसी स्कोर पर ऋतुराज का विकेट किया। इसके बाद टीम का दूसरा विकेट 103 रनों के कुल स्कोर पर गिरा। जब मोईन अली आउट हो गए। इसके बाद टीम को लगातार दो झटके लगे और सुरेश रैना के साथ फाफ डू प्लेसिस भी एक ही ओवर में जैसन होल्डर के शिकार बन गए। इसके बाद धोनी और रायुडू ने टीम का कोई और विकेट नहीं गिरने दिया।

पॉइंट टेबल में टॉप पर सीएसके, सबसे निचले पायदान पर हैदराबाद

इस जीत के साथ ही सीएसके ने प्ले ऑफ में अपना स्थान पक्का कर लिया। वो ऐसा करने वाली पहली टीम बनी। सीएसके ने अबतक खेले गए 11 मुकाबलों में से 9 मुकाबलों में जीत हासिल की है। इस तरह से सीएसके के पास 18 अंक हो गए हैं। वहीं, सनराइजर्स हैदराबाद की टीम 11 मैचों में 9 मैच गंवा चुकी है और महज 4 अंक लेकर अंक तालिका में सबसे नीचे है।

हैदराबाद ने दिया था 135 रनों का लक्ष्य

इससे पहले, जोश हेजलवुड और ड्वेन ब्रावो की अगुवाई में गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन से चेन्नई सुपर किंग्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच में गुरुवार को यहां सात विकेट पर 134 रन ही बनाने दिये। हेजलवुड ने 24 रन देकर तीन विकेट लिये जो आईपीएल में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। ब्रावो ने 17 रन देकर दो विकेट हासिल किये। सनराइजर्स की तरफ से ऋद्धिमान साहा ने सर्वाधिक 44 रन बनाये लेकिन इसके लिये उन्होंने 46 गेंदें खेली।

लगातार पारी को आगे बढ़ाते रहे साहा

पहले दो ओवर में पांच रन और फिर सलामी बल्लेबाज जैसन रॉय (दो) का विकेट। स्वाभाविक था कि सनराइजर्स ऐसी शुरुआत नहीं चाहता था। साहा ने दीपक चाहर के पारी के तीसरे ओवर में दो छक्के लगाये जिससे सनराइजर्स पावरप्ले में एक विकेट पर 41 रन तक पहुंचा लेकिन इसके तुरंत बाद उसने कप्तान केन विलियमसन (11) का विकेट गंवा दिया जिन्हें ब्रावो ने पगबाधा आउट किया। साहा जब 29 रन पर थे तब उन्होंने प्वाइंट पर आसान कैच दे दिया था लेकिन शार्दुल ठाकुर (37 रन देकर एक) की यह गेंद नोबॉल निकल गयी। स्कोर हालांकि कछुआ चाल से आगे बढ़ रहा था और 10 ओवर में केवल 63 रन बने थे, जिसके बाद ब्रावो ने प्रियम गर्ग (सात) का संघर्ष समाप्त किया। साहा ने जब धोनी को आसान कैच थमाया तो रविंद्र जडेजा (तीन ओवर में 14 रन देकर एक) ने नोबॉल नहीं की थी।

SRH के निचले क्रम के बल्लेबाजों ने बचाई थी नाक

बीच में 48 गेंद तक कोई बाउंड्री नहीं लगी। छठे ओवर के बाद 13वें ओवर में जाकर गेंद ने सीमा रेखा के दर्शन किये। अब्दुल समद (18) ने ठाकुर पर चौका लगाने के बाद हेजलवुड पर छक्का भी लगाया। अभिषेक शर्मा (18) ने भी हेजलवुड के अगले ओवर में छक्का लगाया लेकिन इस आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ने इन दोनों बल्लेबाजों को तीन गेंद के अंदर पवेलियन की राह दिखा दी। जैसन होल्डर (पांच) के आउट होने के बाद राशिद खान (13 गेंद पर नाबाद 17) ने डेथ ओवरों में कुछ रन जुटाये।

You can share this post!

स्टार ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर पाल सिंह ने अंतरराष्ट्रीय हॉकी को अलविदा कहा

विश्व कप फाइनल : कांस्य पदक से चूके दीपिका और अतनु, भारत की झोली रही खाली

Leave Comments