होम / खेल-खिलाड़ी

नामीबिया को बड़े अंतर से हराकर ग्रुप में दूसरे नंबर पर पहुंचा अफगानिस्तान, 62 रन से दर्ज की जीत

अफगानिस्तान ने निर्धारित 20 ओवरों में 5 विकेट खोकर 160 रन बनाए। इसके जवाब में नामीबिया की पूरी टीम निर्धारित 20 ओवरों में 9 विकेट खोकर महज 98 रन ही बना पाई।

तस्वीर: Twitter/ACBofficials

अबु धाबी: अफगानिस्तान ने ग्रुप बी में अपना दूसरी माच जीत लिया है। अफगानिस्तान ने नामीबिया को 62 रनों के बड़े अंतर से जीत दर्ज की और अंक तालिका में अपना दूसरा स्थान मजबूत कर लिया। अफगानिस्तान ने नामीबिया के सामने 161 रनों का लक्ष्य रखा था, लेकिन नामीबियाई टीम महज 98 रन ही बना सकी। अफगानिस्तान के लिए नवीन उल हक और हामिद हसन ने तीन-तीन विकेट लिये, तो गुलबदिन नईब को दो विकेट मिला। वहीं स्टार स्पिनर राशिद खान को भी एक विकेट मिला। 

अफगानिस्तान की शानदार बल्लेबाजी

इससे पहले, अफगानिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी और नामीबिया के सामने जीत के लिए 161 रनों का लक्ष्य रखा है। ये मैच दोनों ही टीमों के लिए बेहद अहम है। अफगानिस्तान के ओपनर मोहम्मद शहजाद ने 45 रनों की तेज तर्रार पारी खेली। उनके अलावा हजरतुल्लाह जाजई ने 33, असगर अफगान ने 31 और कप्तान मोहम्मद नबी ने नाबाद 32 रन बनाए। उनके सामूहिक योगदान के दम पर अफगानिस्तान ने निर्धारित 20 ओवरों में 5 विकेट खोकर 160 रन बनाए।

नामीबिया की खराब शुरुआत

नामीबिया ने 161 रनों के लक्ष्य के जवाब में खराब शुरुआत की। उसका पहला विकेट पहले ही ओवर की चौथी गेंद पर क्रेग विलियम्स आउट हो गए। वो सिर्फ एक रन ही बना सके। वहीं, पारी के तीसरे ही ओवर की चौथी गेंद पर नामीबिया ने दूसरा विकेट भी खो दिया। इस स्कोर पर टीम के दूसरे ओपनर मिचेल वान लिंगेन महज 8 गेदों पर 11 रन बनाकर आउट हो गए। दोनों विकेट नवीन उल हक के हिस्से में आए। इन झटकों से नामीबिया कभी उबर ही नहीं पाया और निर्धारित 20 ओवरों में 9 विकेट गंवाकर महज 98 रन ही बना पाया। 

आज असगर अफगान खेल रहे हैं आखिरी मैच

इस मैच में उतरे अफगानिस्तान के पूर्व कप्तान असगर अफगान आज आखिरी बार मैदान में हैं। उन्होंने कुछ समय पहले ही घोषणा कर दी थी कि ये उनका आखिरी मैच होगा। असगर अफगान दुनिया के सबसे सफल टी-20 कप्तान रहे हैं। असगर अफगान ने 75 टी-20 इंटरनेशनल, 6 टेस्ट मैच और 114 एकदिवसीय मैच खेले हैं। ये उनका 75वां मैच है। कप्तान के तौर पर असगर अफगान दुनिया में सबसे सफल कप्तान साबित हुए हैं। उन्होंने 52 मैचों में टीम की कप्तानी की है, जिसमें से 42 मैचों में टीम को जीत मिली है। उनकी कप्तानी में अफगानिस्तान ने महज 9 मैच हारे हैं, जबकि एक मैच टाई रहा। दूसरे नंबर पर भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हैं, जिन्होंने अपनी कप्तानी में 41 मैच जीते, तो 28 मैचों में हार का स्वाद चखना पड़ा। 

 

 

You can share this post!

शमी को ट्रोल करने वालों पर भड़के विराट कोहली, धर्म किसी को निशाना बनाने का बहाना नहीं

INDvsNZ: न्यूजीलैंड ने भारत को 8 विकेट से हराया, अंकतालिका में तीसरे नंबर पर पहुंचे किवी

Leave Comments