होम / बात देश की

मेघालय के पूर्व CM संगमा कांग्रेस छोड़कर 12 MLA के साथ TMC में गए, बौखलाए अधीर रंजन

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने कहा कि हमने पूरे सोच-विचार के बाद इस फैसले को लिया है। हमने इस मामले पर मंथन करके सामूहिक फैसला किया है।

मुकुल संगमा

नई दिल्ली : मेघालय के पूर्व सीएम मुकुल संगमा की अगुवाई में कांग्रेस के 12 विधायकों ने तृणमूल कांग्रेस (TMC) में  शामिल होने का फैसला किया है। शिलांग में संगमा ने कहा कि हमने तृणमूल कांग्रेस के साथ विलय करने का फैसला किया है। मेघालय के पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने गुरुवार को कांग्रेस पार्टी से 12 विधायकों के टूटकर तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता लेने के मौके पर कहा कि देश को इस समय एक अखिल भारतीय विपक्ष की जरूरत है और कांग्रेस इस उद्देश्य को पूरा करने में विफल हो गई है।

संगमा ने TMC में विलय के फैसले को राज्यहित में बताया

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूर्व मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने कहा कि हमने पूरे सोच-विचार के बाद इस फैसले को लिया है। हमने इस मामले पर मंथन करके सामूहिक फैसला किया और इसके लिए काफी विचार-विमर्श भी किया गया है। मेघालय राज्य के लोगों के हित में यह फैसला लिया गया है। संगमा ने कहा कि 2018 में हम विधानसभा चुनाव में जीत और सरकार बनाने को लेकर भी आश्वस्त थे, लेकिन ऐसा हो नहीं सका। हम सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरे थे जबकि चुनाव के बाद हमारे विधायकों को तोड़ा जाने लगा। अब हमारी संख्या केवल 17 रह गई थी।

 

मुकुल संगमा ने कहा कि हम एक ऐसा टीम हैं, जिसने मेघालय में अपनी कुशलता दिखाई है और लोगों का भरोसा जीता है। लोगों के भरोसे और सम्मान की इज्जत की जानी चाहिए। संगमा ने कहा कि राज्य के लिए प्रतिबद्धता ने बाकी सब चीजों को पीछे छोड़ दिया है। जहां तक विपक्ष की भूमिका का सवाल है, हम अपने कर्तव्य में विफल हो रहे हैं। 

ये भी पढ़ें : पीएम मोदी ने किया Noida International Airport का शिलान्यास, बोले- सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास, यही हमारा मंत्र

अधीर रंजन चौधरी ने प्रशांत किशोर पर लगाया आरोप

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने मेघालय में कांग्रेस के 12 विधायकों के टीएमसी में शामिल होने पर कहा कि कांग्रेस को तोड़ने की ये साजिश सिर्फ मेघालय में ही नहीं, बल्कि पूरे पूर्वोत्तर में हो रही है। मैं सीएम ममता बनर्जी को चुनौती देता हूं कि पहले उन्हें टीएमसी के चुनाव चिह्न पर जिताएं और फिर औपचारिक रूप से उनको पार्टी में शामिल करें। बौखलाए अधीर ने कहा कि अगर ममता बनर्जी अभी सोनिया गांधी से मिलती हैं, तो पीएम मोदी नाराज हो जाएंगे। ईडी द्वारा उनके भतीजे को तलब किए जाने के तुरंत बाद उनकी हरकतें बदल गईं। इससे पहले उन्होंने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर बीजेपी के खिलाफ मिलकर लड़ने की बात कही थी। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि ये सब प्रशांत किशोर और टीएमसी के नेता लुइजिन्हो फ्लेरियो कर रहे हैं। हमें इसकी जानकारी थी। 

Related Tags:
Meghalaya-crisis -Mukul-Sangma -Shillong -Congress-crisis -मेघालय-संकट -मुकुल-संगमा -शिलांग -कांग्रेस-संकट

You can share this post!

साइलेंट किलर INS Vela भारतीय नौसेना में शामिल, इन तकनीकों से लैस

भारत का बंटवारा इस्लाम-ब्रिटिश आक्रमण का परिणाम, इसे रद्द करके ही मिटेगा दर्द: मोहन भागवत

Leave Comments