होम / बात देश की

सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फैसल ने एस. जयशंकर से मुलाकात की

इस यात्रा से पहले भारत में सऊदी राजदूत मोहम्मद अलसाती ने कहा था कि विदेश मामलों के मंत्री प्रिंस फैसल बिन फरहान बिन अब्दुल्ला की यात्रा सउदी अरब और भारत के बीच खास रिश्तों को लेकर होनी है।

सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फैसल ने एस. जयशंकर से मुलाकात की.

नई दिल्ली: भारत के विदेश मंत्री एस. जयशकंर ने दिल्ली में सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फैसल बिन फरहान अल सौद के साथ अफगानिस्तान के विकास सहित द्विपक्षीय संबंधों पर विस्तृत रुप से वार्ता की। अल सौद की तीन दिवसीय भारत यात्रा शनिवार से शुरू हुई है और वह सोमवार शाम अमेरिका के लिए रवाना होंगे। इस वार्ता में भारत का उद्देश्य मुख्य रुप से सऊदी अरब का अफगानिस्तान के प्रति रुख जानना भी रहेगा।

अहम है सऊदी के विदेश मंत्री की यात्रा

सऊदी अरब के विदेश मंत्री की भारत यात्रा इसलिए भी अहम है क्योंकि अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद भारत इससे जुड़े घटनाक्रम को लेकर दुनिया के प्रमुख देशों से लगातार संपर्क कर रहा है। क्षेत्र का प्रमुख देश होने के नाते सऊदी अरब के रूख का महत्व काफी बढ़ जाता है। तालिबान के काबुल पर कब्जे से पहले अफगानिस्तान की शांति प्रक्रिया में कतर और ईरान सहित खाड़ी के कई देशों की अहम भूमिका रही थी। वहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा था कि अफगानिस्तान में सत्ता परिवर्तन समावेशी नहीं है। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय समुदाय को उसे मान्यता देने के बारे में सामूहिक रूप से और विचार करना चाहिए।

इस यात्रा से पहले भारत में सऊदी राजदूत मोहम्मद अलसाती ने कहा था कि विदेश मामलों के मंत्री प्रिंस फैसल बिन फरहान बिन अब्दुल्ला की यात्रा सऊदी अरब और भारत के बीच खास रिश्तों को लेकर होनी है। विदेश मंत्री फैसल बिन फरहान सौद और भारतीय अधिकारियों के बीच बातचीत हमारे रणनीतिक साझेदार के साथ हमारे बहुआयामी सहयोग पर केंद्रित रहेगी। जिसमें व्यापार, निवेश, ऊर्जा, सुरक्षा, रक्षा, स्वास्थ्य और अन्य शामिल हैं।

You can share this post!

पिछले 24 घंटों में कोरोना के 30 हजार से ज्यादा नए मामले, देखें रिपोर्ट

CM योगी ने सरकार के साढ़े 4 साल पूरे होने पर गिनाई उपलब्धियां

Leave Comments