होम / बात देश की

News India Super Exclusive: स्वामी प्रसाद मौर्य का दावा, आएगी बीजेपी विरोधी सुनामी, 50 सीटों के भीतर समेटेंगे

न्यूज इंडिया के एडीटर इन चीफ सरफराज सैफी से मौर्य ने कहा कि भाजपा अजगर की तरह है, जो पूरे उत्तर प्रदेश को निगलती जा रही है। किसान, मजदूर, छोटे व्यापारी सभी दुखी हैं।

न्यूज़ इंडिया के साथ स्वामी प्रसाद मौर्य

नई दिल्ली : भाजपा को छोड़कर सपा में शामिल हो रहे पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने न्यूज़ इंडिया के साथ सुपर एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में यह दावा किया है कि वह समाजवादी पार्टी में शामिल हो जाएंगे और इसके बाद भाजपा विरोधी सुनामी आएगी। जिससे कि राज्य में भाजपा की सत्ता को उखाड़ फेंका जाएगा। मौर्य ने दावा कि भाजपा को उसकी 2017 से पहले की पुरानी हैसियत में लाकर 50 सीटों के भीतर समेट दिया जाएगा। स्वामी प्रसाद मौर्य ने आरोप लगाया कि पिछले लगातार 5 साल तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने पिछड़ों और दलितों की उपेक्षा की है। मौर्य ने दावा कि वह हमेशा इस बारे में मंत्रिमंडल में आवाज उठाते रहे और भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को भी इस बारे में जानकारी देने का काम लगातार किया है।

न्यूज इंडिया के एडीटर इन चीफ सरफराज सैफी से मौर्य ने कहा कि मंत्रिमंडल की सामूहिक जिम्मेदारी के कारण पब्लिक फोरम पर वह इस मामले को नहीं उठाते थे। अब जबकि एक नया अवसर सामने है तो भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए उन्होंने पूरी चाक-चौबंद व्यवस्था की है। स्वामी प्रसाद मौर्य ने आरोप लगाया कि भाजपा अजगर की तरह है, जो पूरे उत्तर प्रदेश के लोगों को निगलती जा रही है। किसान, मजदूर, छोटे व्यापारी सभी दुखी हैं। इनको केवल अडानी और अंबानी दिखाई दे रहे हैं। 

बीजेपी के राज में सभी वर्ग परेशान

न्यूज़ इंडिया के साथ एक इंटरव्यू में स्वामी प्रसाद मौर्य ने दावा किया कि जिस तरह से बसपा छोड़ने के बाद बहन मायावती राजनीतिक रूप से अप्रासंगिक हो गईं हैं, उसी तरह उनके भाजपा से निकलने के बाद भाजपा की हालत भी वही होगी। स्वामी प्रसाद मौर्य ने आरोप लगाया कि सरकारी नौकरियों में भी पिछड़ों और दलितों की उपेक्षा की गई। जिन सरकारी संस्थानों में आरक्षण व्यवस्था के कारण दलितों और पिछड़ों को नौकरी मिलती थी, उन संस्थानों का धीरे-धीरे निजीकरण किया जा रहा है। जिससे वहां पर आरक्षण व्यवस्था खत्म हो जाए और पिछड़ों व दलितों को नौकरी मिलना बंद हो जाए। स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि बीजेपी के राज में सभी वर्ग परेशान हैं। 

भाजपा की नजर में वोट बैंक को बचाना जरूरी

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि किसान लाखों की तादाद में धरना-प्रदर्शन करते रहे लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई। जैसे ही चुनाव की तारीख नजदीक आई तो बिना उनसे बात किए तीनों कृषि कानूनों को खत्म कर दिया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा की नजर में किसान महत्वपूर्ण नहीं है। उसके लिए वोट बैंक को बचाना जरूरी है। स्वामी प्रसाद मौर्य ने न्यूज इंडिया के साथ बातचीत में आरोप लगाया कि भाजपा का नारा ‘सबका साथ, सबका विश्वास और सबका विकास है’ लेकिन काम इसके ठीक उलटा कर रही है। स्वामी प्रसाद मौर्य ने आरोप लगाया कि संघ की विचारधारा के लोग नहीं चाहते कि गरीब, किसान, मजदूर के परिवार से कोई राजनीति में आगे बढ़े। मौर्य ने कहा कि उनके इस्तीफे से अभी भाजपा में इस्तीफों की शुरुआत हुई है, यह सिलसिला चलता रहेगा और भाजपा को सत्ता से बाहर करने तक जारी रहेगा।

पीएम मोदी के पिछड़ा वर्ग से होने की दुहाई पर बीजेपी में आए

न्यूज इंडिया के एडिटर इन चीफ सरफराज सैफी के यह पूछने पर कि उनके इस्तीफे के बाद क्या भाजपा के लोगों ने उनसे संपर्क करने की कोशिश की? इस पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि जब मैंने एक बार इस्तीफा दे दिया तो इसके बारे में किसी से बातचीत करने का सवाल ही नहीं है। अब हम भाजपा की सत्ता को पलट कर ही दम लेंगे। स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि उनकी राजनीतिक शिक्षा लोक दल से शुरू हुई और बहुजन समाज पार्टी तक चली है। वह तो केवल पीएम नरेंद्र मोदी के पिछड़ा वर्ग से होने की दुहाई देने कारण बीजेपी में आए थे। लेकिन पिछले 5 साल में भाजपा को अच्छी तरह से समझ गया हूं।

ये भी पढ़ें: UP Election 2022: मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा, विधायक सीताराम वर्मा ने किया इस्तीफे का खंडन

मेरी कोई पार्टी नहीं लेकिन जनाधार कम नहीं
 
न्यूज इंडिया के एडिटर इन चीफ सरफराज सैफी ने जब ये पूछा कि केंद्र में रामविलास पासवान को राजनीति का मौसम विज्ञानी कहा जाता था। तो क्या यूपी में स्वामी प्रसाद मोर्य उसी तरह के मौसम विज्ञानी हैं? इस पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मेरा संघर्ष काफी लंबा है। भले ही मेरी कोई पार्टी नहीं है, लेकिन किसी भी पार्टी से कम जनाधार मेरे पास नहीं रहता है। जब भी मैं कोई नया फैसला लेता हूं, तो जनता प्रदेश की जनता मेरे साथ खड़ी होती है।

मेरे खिलाफ अरेस्ट वारंट नहीं, ये भाजपा के खिलाफ डेथ वारंट है

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मेरे खिलाफ अरेस्ट वारंट नहीं, ये भाजपा के खिलाफ डेथ वारंट निकला है। मेरे इस्तीफे से भाजपा की कुंभकरणी नींद टूटी है। भाजपा के जो नेता सीना तानकर घूम रहे थे, अब विधायकों की मान-मनौवल कर रहे हैं। मौर्य ने ये भी कहा कि अगर हम बीजेपी छोड़ने वाले विधायकों के नाम और संख्या बता देंगे तो उनकी घेराबंदी हो जाएगी। इसलिए अपनी किसी भी नीति या चाल का खुलासा अभी नहीं करेंगे। 

You can share this post!

जामिया मिलिया इस्लामिया की कुलपति प्रो. नजमा अख्तर को 'एम्बेसडर फॉर पीस' अवार्ड

News India Super Exclusive : स्वामी प्रसाद मौर्य का दावा, भाजपा को करेंगे यूपी की सत्ता से बाहर

Leave Comments