होम / बात देश की

साइलेंट किलर INS Vela भारतीय नौसेना में शामिल, इन तकनीकों से लैस

Indian Navy को बल देने के लिए गुरुवार को स्कॉर्पियन क्लास की चौथी पनडुब्बी INS Vela को सेवा में शामिल किया गया है। INS Vela एक डीजल-इलेक्ट्रिक अटैक सबमरीन है, यह चकमा देकर हमला करने में माहिर है।

INS Vela

नई दिल्लीः Indian Navy में गुरुवार को INS Vela पनडुब्बी को शामिल किया गया है। चीफ ऑफ नेवल स्टाफ एडमिरल करमबीर सिंह की मौजूदगी में INS Vela को मुंबई के नौसैनिक डकयॉर्ड में इसे शामिल किया गया है। INS Vela के शामिल होने से भारतीय नौसेना की वॉर पावर को और ताकत मिलेगी। ये पनडुब्बी समुद्र में साइलेंटली मूव करती है इसलिए रक्षा एक्सपर्ट ने इसे साइलेंट किलर का नाम दिया है।

INS Vela स्टील्थ फीचर से लैस

आपको बता दे की यह पनडुब्बी स्टील्थ फीचर से लैस है, खास बात ये है कि ये पनडुब्बी समुद्र में अपने दुश्मनों को बिना भनक लगे उनके पास पहुंच कर उनको मार गिरा सकती है।

INS Vela एक डीजल-इलेक्ट्रिक अटैक सबमरीन

INS Vela एक डीजल-इलेक्ट्रिक अटैक सबमरीन है, यह चकमा देकर हमला करने में माहिर है। इस पनडुब्बी का निशाना अचूक है। इससे 18 टॉरपीडो एवं मिसाइल लॉन्च हो सकते हैं। इसमें 35 नौसैनिक और 8 ऑफिसर रह सकते हैं।

प्रोजेक्ट 75 के तहत भारत में बनी पनडुब्बी

प्रोजेक्ट 75 के तहत भारत में बनी ये पनडुब्बी कलवारी क्लास के बैच की 6 पनडुब्बियों में से एक है। इसका वजन 1615 टन है और ये पनडुब्बी 200 किलोमीटर दूर से ही दुश्मन पर हमला कर सकती है। 

भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह

भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह की उपस्थिति में गुरुवार को नौसेना में INS Vela को शामिल किया गया। करमबीर सिंह ने इस पनडुब्बी की विषेशताओं पर रोशनी डालते हुए बताया कि, INS वेला में पनडुब्बी संचालन के पूरे स्पेक्ट्रम को शुरू करने की क्षमता है। आज की जटिल सुरक्षा स्थिति को देखते हुए, इसकी क्षमता और मारक क्षमता भारत के समुद्री हितों की रक्षा के लिए नौसेना की क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। 

INS Vela 221 फीट लंबी

INS Vela 221 फीट लंबी है। इसका बीम 20 फीट, उचाई 40 फीट और ड्रॉट 19 फीट का है। इसमें चार MTU 12V 396 SE84 डीजल इंजन लगा है। इसमें डीआरडीओ द्वारा बनाया गया PAFC फ्यूल सेल भी है। इसे ताकत देने के लिए एक बेहतरीन इंजन दिया गया है, ताकि ये पनडुब्बी बिना आवाज किए तेज गति से दुश्मनों की तरफ हमला कर सके।

550 नॉटिकल मील की दूरी तय कर सकती है

INS Vela 550 नॉटिकल मील की दूरी तय कर सकती है और ये 50 दिन तक समुद्र में रह सकती है। हिंद महासागर में INS Vela भारतीय सुरक्षा में अपनी अहम भूमिका निभाएगी।

Related Tags:
-Indian-Navy -INS-Vela -Admiral-Karambir-Singh -Defence-Minister -Rajnath-Singh -Bharat-Bhushan-Babu -Ministry-of-defence -Vela -Submarine -भारतीय-युद्धपोत -पनडुब्बी -भारतीय-नौसेना

You can share this post!

Indian Navy में शामिल INS Vela, समुद्री दुश्मनों की अब खैर नहीं

मेघालय के पूर्व CM संगमा कांग्रेस छोड़कर 12 MLA के साथ TMC में गए, बौखलाए अधीर रंजन

Leave Comments