होम / बात देश की

गृहमंत्री अमित शाह का बड़ा ऐलान, देश में होगी ई- जनगणना

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने पारंपरिक तरीके से हो रहे जनगणना को खारिज करते हुए साइंटिफिक और आधुनिक तरीके से जोड़ने का फैसला किया है।

फोटो - सोशल मीडिया

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने पारंपरिक तरीके से हो रहे जनगणना को खारिज करते हुए साइंटिफिक और आधुनिक तरीके से जोड़ने का फैसला किया है। शाह का मानना है कि, इससे आंकड़े सटीक और सत प्रतिशत सही होगी। 

बेहतर विकास के लिए उचित गणना जरूरी

बता दें कि गृहमंत्री ने गुवाहाटी के अमीगांव में जनगणना संचालन निदेशालय के कार्यालय भवन का उद्घाटन करते हुए उन्होंने कहा कि देश के विकास की बेहतर योजना के लिए उचित गणना बेहद जरूरी है। अमित शाह ने कहा कि, अगली जनगणना ई-मोड में होने के साथ यह सत प्रतिशत पूर्ण गणना होगी और इसी के आधार पर देश में 25 वर्षों के लिए विकास की योजना तैयारी की जाएगी। 

इसे भी पढ़ें- पीके के इनकार के बाद CWC की पहली बैठक, चिंतन शिविर की हुई तैयारी

जन्म- मृत्यु को जनगणना से जोड़ा जाएगा

अमित शाह ने आगे कहा कि, जन्म के बाद, विवरण जनगणना रजिस्टर में जोड़ा जाएगा और 18 वर्ष पूरे होने पर उसे मतदाता सूची में शामिल किया जाएगा वहीं मृत्यु के बाद उसका नाम हटा दिया जाएगा। गृहमंत्री ने कहा कि जन्म- मृत्यु को जनगणना से जोड़ा जाएगा और साल 2024 तक हर जन्म- मृत्यु का पंजीकरण होगा। इसका मतलब है कि देश की जनगणना अपने आप अपडेट हो जाएगी। इसके साथ ही अमित शाह ने कहा कि जनगणना के लिए सॉफ्टवेयर लॉन्च होते ही मैं औऱ मेरा परिवार सबसे पहले ऑनलाइन विवरण भरेंगे। 

बता दें कि अमित शाह ने कहा कि नीति निर्माण में जनगणना की अहम भूमिका होती है। जनगणना के तहत हम बता सकते हैं कि एससी और एसटी की हालत क्या है। पहाड़ों, गांवों और शहरों में कैसी जीवन शैली है। 

राष्ट्र से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें  National News In Hindi 

You can share this post!

पीके के इनकार के बाद CWC की पहली बैठक, चिंतन शिविर की हुई तैयारी

सीमा मुद्दे को लेकर आर्मी चीफ का बड़ा बयान, कहा- विवाद को लंबा खींचना चाहता है चीन

Leave Comments