होम / बात देश की

गहलोत की कैप्टन को सलाह, कांग्रेस का अहित करने से बचें

गहलोत ने कहा कि “मुझे उम्मीद है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह जी ऐसा कोई कदम नहीं उठायेंगे जिससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो। कैप्टन साहब पार्टी के सम्मानित नेता हैं एवं मुझे उम्मीद है कि वो आगे भी पार्टी का हित आगे रखकर ही कार्य करते रहेंगे।”

गहलोत की कैप्टन को सलाह, कांग्रेस का अहित करने से बचें

नई दिल्ली: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे चुके कैप्टन अमरिंदर सिंह को सलाह दी है कि वे कोई ऐसा कदम नहीं उठाएं, जिससे कांग्रेस पार्टी का अहित हो।    

गहलोत ने कहा कि “मुझे उम्मीद है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह जी ऐसा कोई कदम नहीं उठायेंगे जिससे कांग्रेस पार्टी को नुकसान हो। कैप्टन साहब ने स्वयं कहा कि पार्टी ने उन्हें साढे़ नौ साल तक मुख्यमंत्री बनाकर रखा है। उन्होंने अपनी सर्वोच्च क्षमता के अनुरूप कार्य कर पंजाब की जनता की सेवा की है।”   

गहलोत ने कहा कि पार्टी हाईकमान को कई बार विधायकों एवं आमजन से मिले फीडबैक के आधार पर पार्टी हित में निर्णय करने पड़ते हैं। मेरा व्यक्तिगत भी मानना है कि कांग्रेस अध्यक्ष कई नेता, जो मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में होते हैं, उनकी नाराजगी मोल लेकर ही मुख्यमंत्री का चयन करते हैं। परन्तु वही मुख्यमंत्री बदलते वक्त में हाईकमान के फैसले को नाराज होकर गलत ठहराने लग जाते हैं। ऐसे क्षणों में अपनी अंतरात्मा को सुनना चाहिए।   

राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि मेरा मानना है कि देश फासिस्टी ताकतों के कारण किस दिशा में जा रहा है, यह हम सभी देशवासियों के लिए चिंता का विषय होना चाहिए। इसलिए ऐसे समय हम सभी कांग्रेसजनों की जिम्मेदारी देश हित में बढ़ जाती है। हमें अपने से ऊपर उठकर पार्टी व देश हित में सोचना होगा।  

गहलोत ने कहा कि कैप्टन साहब पार्टी के सम्मानित नेता हैं एवं मुझे उम्मीद है कि वो आगे भी पार्टी का हित आगे रखकर ही कार्य करते रहेंगे। 

पंजाब में कांग्रेस पार्टी के विधायकों में कैप्टन अमरिंदर सिंह की कार्यशैली को लेकर असंतोष बढ़ता जा रहा था। इसके बाद कांग्रेस आलाकमान ने कैप्टन को इस्तीफा देने का निर्देश दिया। कांग्रेस के विधायकों ने नया मुख्यमंत्री चुनने का अधिकार पार्टी हाईकमान को सौंप दिया है।   

ये भी पढ़ें: CM योगी ने सरकार के साढ़े 4 साल पूरे होने पर गिनाई उपलब्धियां 

पंजाब के कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में हैं। जबकि कैप्टन ने आरोप लगाया कि सिद्धू के संबंध पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और जनरल बाजवा से हैं। इसलिए वे उनको मुख्यमंत्री बनाने का विरोध करेंगे। 

You can share this post!

CM योगी ने सरकार के साढ़े 4 साल पूरे होने पर गिनाई उपलब्धियां

अंबिका सोनी ने कहा, सिख हो पंजाब का मुख्यमंत्री

Leave Comments