होम / बात देश की

AIIMS के निदेशक ने कहा , Omicron वैक्सीन की क्षमता को दे सकता है चुनौती

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार AIIMS के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने बताया कि कोरोना के नए वेरिंएट ऑमिक्रॉन में इम्यूनोस्केप मैकेनिज्म विकसित करने की क्षमता है।

डॉ रणदीप गुलेरिया

नई दिल्लीः कोरोना का नया वेरिएंट ऑमिक्रॉन(Omicron) से दुनिया भर की सरकारें दहशत में हैं और कई देशों ने इसके प्रकोप को रोकने के लिए नए यात्रा प्रतिबंधों की घोषणा भी कर दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार AIIMS के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने बताया कि कोरोना के नए वेरिंएट ऑमिक्रॉन में इम्यूनोस्केप मैकेनिज्म विकसित करने की क्षमता है, जिससे कोविद -19 के टीकों की प्रभावशीलता कम हो सकती है। उन्होंने आगे कहा कि भारत में उपयोग में आने वाले टीकों सहित टीकों की प्रभावशीलता का गंभीर रूप से मूल्यांकन करने की आवश्यकता है।

डॉ गुलेरिया ने कहा कि इस नए वायरस के बारे में ये बताया जा रहा है कि स्पाइक प्रोटीन क्षेत्र में ऑमिक्रॉन के 30 से अधिक म्यूटेशन हैं। कोरोनावायरस के नए वेरिएंट में कथित तौर पर स्पाइक प्रोटीन क्षेत्र में 30 से अधिक म्यूटेशन हुए हैं और इसलिए इसमें प्रतिरक्षा से बचने के तंत्र विकसित करने की क्षमता है। जैसा कि अधिकांश टीके (काम करते हैं) स्पाइक प्रोटीन के खिलाफ एंटीबॉडी बनाते हैं, स्पाइक प्रोटीन क्षेत्र में इतने सारे म्यूटेशन से COVID-19 टीकों की प्रभावशीलता कम हो सकती है और कोरोना के जितने टीके लोगों को अभी तक लगें है वो इस नए कोरोना वायरस के सामने फीके पड़ सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः Parliament winter session : सरकार ने बनाया 26 नए बिल पेश करने का एजेंडा

24 नवंबर को मिला था कोरोना का नया वेरिएंट 

कोरोना के नए वेरिएंट का 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका में पाए जाने का पहली बार पता चला। तब से इसे बोत्सवाना, बेल्जियम, हांगकांग और इज़राइल में अन्य देशों में पहचाना गया। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना के इस नए वेरिएंट को ऑमिक्रॉन(Omicron) नाम दिया। केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सघन नियंत्रण, सक्रिय निगरानी, ​​परीक्षण में वृद्धि, हॉटस्पॉट की निगरानी, ​​टीकाकरण के बढ़ते कवरेज और स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करने को कहा है।

You can share this post!

Parliament Winter Session : PM मोदी ने कहा, सरकार हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार

Parliament Winter Session : हंगामे के बीच लोकसभा से तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने वाला बिल पास

Leave Comments