होम / बात देश की

UP Election 2022: मायावती के सबसे खास 5 नेता, जो अब BJP को बना रहे हैं मजबूत

कभी बसपा के सबसे विश्वसनीय लोगों में शुमार किए जाने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य, नरेंद्र कश्यप, धर्म सिंह सैनी, ब्रजेश पाठक हों या फिर दारा सिंह चौहान...

फाइल फोटो

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की रणभेरी बस बजने ही वाली है। सभी पार्टियों ने चुनावी तैयारियों में अपना पूरा दमखम झोंक दिया है। जोड़-तोड़ भी शुरू हो चुकी है, तो नेताओं के पाला बदलने की खबरें भी लगातार आ ही रही हैं। इस खास पेशकश में हम आपको बता रहे हैं बीएसपी के उन 5 बड़े नेताओं के बारे में, जो कभी मायावती के बहुत करीबी माने जाते थे और पार्टी की 2007 में शानदार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में अहम भूमिका निभा चुके थे, लेकिन अब वो मायावती से दूर जा चुके हैं और बीजेपी का दामन थाम चुके हैं। इनमें से कई ने कुछ समय पहले पार्टी छोड़ी, तो कुछ को खुद मायावती ने ही पार्टी से निकाल दिया। लेकिन अब यही 5 बड़े नेता बीजेपी की ताकत बढ़ा रहे हैं, तो बीएसपी के लिए सरदर्द साबित हो रहे हैं।

स्वामी प्रसाद मौर्या

कभी स्वामी प्रसाद मौर्या की हैसियत बीएसपी में नंबर दो नेता की होती थी। वो मायावती के भी बहुत करीबी माने जाते थे, तो गैर-जाटव दलित चेहरे के तौर पर भी उनकी पहचान थी। लेकिन उन्होंने भी मायावती के खिलाफ विद्रोह का बिगुल फूंक दिया। उन्होंने बसपा सुप्रीमो पर विधानसभा चुनावों में टिकट बेचने का आरोप लगाया था। स्वामी प्रसाद मौर्य ने इसी विवाद के चलते पिछले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले ही बसपा का साथ छोड़ कर बीजेपी का दामन थाम लिया था। आपको बता दें कि यूपी में स्वामी प्रसाद मौर्य को कुर्मी जाति का बड़ा चेहरा माना जाता है। यूपी में इस समुदाय के लगभग 6 फीसदी वोटबैंक है। पूर्वी यूपी में इस जाति का खासा प्रभाव है। मौजूदा समय स्वामी प्रसाद सीएम योगी के कैबिनेट मंत्री हैं।

धर्म सिंह सैनी

धर्म सिंह सैनी भी बीएसपी के तेज तर्रार नेता माने जाते थे। वो स्वामी प्रसाद मौर्या के भी करीबी थे। यही वजह है कि जब स्वामी प्रसाद मौर्या ने पार्टी में विद्रोह का बिगुल बजाया, तो मायावती ने इसकी गाज धर्म सिंह सैनी पर गिरा दी। हालांकि अब धर्म सिंह सैनी बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। धर्म सिंह सैनी ने साल 2016 में बीजेपी का साथ पकड़ा और नुकड़ विधानसभा सीट से ही साल 2017 के चुनाव में सैनी ने कांग्रेस नेता इमरान मसूद को करारी शिकस्त दी थी। वो योगी कैबिनेट में भी मंत्री हैं। वैसे, धर्म सिंह सैनी साल 2002 से ही लगातार विधायकी जीतते आ रहे हैं और जमीनी नेता माने जाते हैं।

दारा सिंह चौहान

कभी मायावती के करीबियों में शुमार रहे दारा सिंह चौहान सांसद भी रहे हैं। हालांकि बाद में मायावती से मतभेदों के चलते पार्टी में अलग थलग पड़ गए। यही नहीं, उन्हें बीएसपी से अनुशासनहीनता की वजह से निकाल भी दिया गया। लेकिन वो अमित शाह की नजर में आए और बीजेपी में शामिल हो घए। फिलहाल वो योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं और बीजेपी ओबीसी मोर्चा के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

ब्रजेश पाठक

बीएसपी के जमीनी ब्राह्मण नेता के तौर पर ब्रजेश पाठक कभी मायावती के बेहद खास हुआ करते थे। साल 2016 में उन्नाव से बीएसपी के सांसद रहे और मायावती के खास माने जाने वाले ब्रजेश पाठक ने बसपा का साथ छोड़कर बीजेपी का हाथ थाम लिया था। उनका साथ छोड़कर बीजेपी का हाथ थाम लिया था। आपको बता दें, ब्रजेश पाठक बसपा के एक प्रभावशाली और बड़ा ब्राह्मण चेहरा थे। फिलहाल ब्रजेश पाठक योगी सरकार के लिए यूपी में ब्राह्मणों का वोट साधने में जुटे हैं। पाठक योगी कैबिनेट में कानून मंत्री हैं। अभी हाल में किए गए ब्राह्मण परिवार संस्था कार्यक्रम में वो शामिल हुए थे इस कार्यक्रम में सीएम योगी ने ब्राह्मणों की जमकर तारीफ की थी।

नरेंद्र कश्यप

बसपा के टिकट पर गाजियाबाद लोकसभा सीट से सांसद रहे नरेंद्र कश्यप 2017 विधानसभा चुनावों से ठीक पहले बीजेपी में शामिल हुए थे। नरेंद्र कश्यप को साल 2016 में अपनी बहू हिमांशी की हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि उन्होंने लगातार इस बात का दावा किया कि उन्होंने बहू के साथ कुछ गलत नहीं किया। नरेंद्र कश्यप और उनके बेटे के खिलाफ दहेज और हत्या का मामला दर्ज था। ऐसे समय में बसपा ने उन्हें यह कहते हुए पार्टी से निकाल दिया कि वो पार्टी में दागदार छवि वाले नेताओं को जगह नहीं देंगी, जिसके बाद नरेंद्र कश्यप बीजेपी में शामिल हो गए थे। नरेंद्र कश्यप को बसपा से नाराज ओबीसी वोटबैंक को बीजेपी में लाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

Related Tags:
Uttar-Pradesh-assembly-elections -UP-Election-2022 -Mayawati -Bahujan-Samaj-Party -BSP-leaders-in-BJP -Brajesh-Pathak -Narendra-Kashyap -Dharam-Singh-Saini -Swami-Prasad-Maurya -Dara-Singh-Chauhan -BJP -Bhartiya-Janta-Party -Dalit-Face-of-BJP -Cabinet-Minister-Brajesh-Pathak

You can share this post!

पंजाब में घूम रहा एक नकली केजरीवाल, बच कर रहना साथियोंः अरविंद केजरीवाल

मुकुल रॉय को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बंगाल के स्पीकर को दिया ये आदेश, जानें पूरा मामला

Leave Comments