होम / बात देश की

Pics: CM योगी ने उठाई मां अन्नपूर्णा की पालकी; विश्वनाथ धाम में प्राण प्रतिष्ठा के साथ की गईं स्थापित

मान्यता है कि बाबा विश्वनाथ (Baba Vishwanath) ने काशी समेत पूरी दुनिया का पेट भरने के लिए बाबा ने मां अन्नपूर्णा से ही भिक्षा मांगी थी। मां अन्नपूर्णा को भोजन की देवी माना जाता है।

साल 2020 में 29 नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में बताया था कि कि लगभग एक सदी पहले भारत से चुराई गई देवी अन्नपूर्णा की एक प्राचीन मूर्ति को कनाडा से वापस लाया जा रहा है।

CM योगी ने उठाई मां अन्नपूर्णा की पालकी

वाराणसी: मां अन्नपूर्णा की 108 साल पहले गायब हुई मूर्ति (Maa Annapurna Devi idol) अब काशी विश्वनाथ धाम में पुनर्स्थापित हो चुकी है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने माता अन्नपूर्णा की मूर्ति का स्वागत किया और विश्वनाथ मंदिर परिसर में प्रतिमा पहुंचने उन्होंने खुद पालकी उठाई और प्रतिमा को स्थापना स्थल तक पहुंचाया। मूर्ति को विश्वनाथ मंदिर के ईशान कोण में स्थापित किया गया। सीएम योगी के हाथों प्राण प्रतिष्ठा किया गया।

विश्वनाथ धाम में प्राण प्रतिष्ठा के साथ की गईं स्थापित

बलुआ पत्थर से बनी मां अन्नपूर्णा की प्रतिमा 18वीं सदी की बताई जाती है। मां एक हाथ में खीर का कटोरा और दूसरे हाथ में चम्मच लिए हुए हैं। मां अन्नपूर्णा की प्रतिमा कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ रेजिना स्थित मैकेंजी आर्ट गैलरी के कलेक्शन का हिस्सा थी। और अब उन्हें विशेष रजत सिंहासन पर विश्वनाथ धाम में प्रवेश कराया गया है। 

खुद सीएम योगी ने की पूजा अर्चना

काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए रविवार को भक्तों की भीड़ अचानक बढ़ गयी थी। गोदौलिया प्रवेश द्वार से गर्भगृह तक कई लाइन लगी थी। ऐसी भीड़ विशेष अवसरों व त्योहारों के समय दिखती है। वहीं, क्षेत्र के दुकानदारों का कहना है कि बाहर के भक्त अधिक थे।

ये तस्वीर योगी आदित्यनाथ के ट्विटर हैंडल पर शेयर की गई

मां अन्नपूर्णा की ये मूर्ति यूपी के 18 जिलों से गुजरते हुए काशी पहुंची है। हर जिले में यूपी सरकार के विधायक और मंत्रियों ने प्रतिमा का स्वागत किया। मूर्ति 11 नवंबर को उत्तर प्रदेश सरकार को सौंपी गई। इस मौके पर दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने पुष्प अर्पित करते हुए मां की पूजा-अर्चना की थी।

शिलापट के पास योगी आदित्यनाथ

मान्यता है कि बाबा विश्वनाथ (Baba Vishwanath) ने काशी समेत पूरी दुनिया का पेट भरने के लिए बाबा ने मां अन्नपूर्णा से ही भिक्षा मांगी थी। मां अन्नपूर्णा को भोजन की देवी माना जाता है। पिछले साल 29 नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में बताया था कि कि लगभग एक सदी पहले भारत से चुराई गई देवी अन्नपूर्णा की एक प्राचीन मूर्ति को कनाडा से वापस लाया जा रहा है।

उद्घाटन कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ

Chief Minister Yogi Adityanath performs rituals to install Maa Annapurna Devi idol at Kashi Vishwanath Temple, in Varanasi

Related Tags:
Chief-Minister-Yogi-Adityanath -Maa-Annapurna-Devi-idol -Kashi-Vishwanath-Temple -Varanasi -Kashi-Vishwanath-Dham -Canada-idol -Maa-Annapurna-Devi

You can share this post!

UP Election 2022 : अखिलेश का दावा, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की क्वालिटी घटिया, शौचलय तक नहीं

दिल्ली में प्रदूषण के मुद्दे पर बहाने बनाने पर सुप्रीम कोर्ट की केजरीवाल सरकार को फटकार

Leave Comments