होम / लाइफस्टाइल

छठ पूजा में यमुना के प्रदूषित होने को लेकर राजनीतिक तकरार तेज

गिरिराज सिंह ने कहा कि केजरीवाल अगर दिल से सनातन धर्म को मानते हैं तो दिल से मानें और घाट पर पूरी व्यवस्था करें। जो दुर्दशा यमुना नदी की है वो छठ व्रती ही शाम में झेलेंगे।

कालिंदी कुंज घाट पर छठ पूजा के लिए पहुंचे लोग

दिल्ली: छठ पूजा में यमुना के प्रदूषित होने को लेकर राजनीतिक तकरार तेज हो गई है। भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने छठ पूजा के समय पर यमुना नदी के प्रदूषित होने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी नीयत गंदी है। मनोज तिवारी ने कहा कि मीडिया जाकर यमुना की गंदगी देख न ले, इसलिए छठ पर यमुना के घाटों पर जाने पर  प्रतिबंध लगाया गया। तिवारी ने आरोप लगाया कि केजरीवाल ने आस्था के विषय को पूरी तरह से कुचलने की कोशिश की है।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी इस मौके पर अरविंद केजरीवाल पर हमला बोला। दिल्ली में यमुना नदी के प्रदूषित होने पर गिरिराज सिंह ने कहा, "दिल्ली की सरकार छलावा न करें, अगर दिल से सनातन धर्म को मानते हैं तो दिल से मानें और घाट पर पूरी व्यवस्था करें। जो दुर्दशा यमुना नदी की है वो छठ व्रती ही शाम में झेलेंगे।"  

 

ये भी पढ़ें: दिल्ली में छठ पर यमुना मैली, मनोज तिवारी ने कहा केजरीवाल की नीयत ज्यादा गंदी

जबकि छठ पूजा के अवसर पर कई जगहों पर श्रद्धालु यमुना के घाटों पर स्नान करने को बाध्य हैं। यमुना के रामघाट में दूषित यमुना नदी में श्रद्धालुओं ने स्नान किया। एक महिला ने बताया, "घाट पर कोई सुविधा नहीं है, पानी में गंदगी है। सरकार को इस विषय पर कुछ करना चाहिए। इस घाट का काफी महत्व है।"

 

दिल्ली सरकार अब नींद से जागी

बहरहाल दिल्ली सरकार अब नींद से जागी है और यमुना नदी में जहरीले झाग को हटाने के लिए बोट का इस्तेमाल किया जा रहा है और पानी का छिड़काव कराया जा रहा है। दिल्ली सरकार ने जहरीले झाग को खत्म करने के लिए नदी में 15 नावें तैनात की हैं। दिल्ली जल बोर्ड के कर्मचारी अशोक कुमार ने कहा कि ''हम जहरीले झाग को खत्म करने के लिए यमुना में पानी छिड़क रहे हैं।'' दिल्ली के कालिंदी कुंज में जहरीले झाग को घाट की ओर फैलने से रोकने के लिए यमुना में बैरिकेड्स लगाए जा रहे हैं।

पुलिस ने कालिंदी कुंज से छठ पूजा के लिए गए लोगों को हटाया

जबकि दिल्ली पुलिस के जवानों ने कालिंदी कुंज के पास यमुना घाट पर जमा भीड़ को तितर-बितर कर दिया, क्योंकि नदी के तट पर छठ पूजा समारोह वर्जित है। यमुना घाटों पर छठ उत्सव की अनुमति नहीं है। कालिंदी कुंज छठ पूजा समिति के अध्यक्ष  विकास राय ने कहा कि यहां आए कुछ श्रद्धालुओं को पुलिस ने वापस जाने को कह दिया है। 

Related Tags:
Chhath-Puja -pollution-of-Yamuna -political-wrangling -Manoj-Tiwari -Arvind-Kejriwal -Giriraj-Singh -छठ-पूजा -यमुना-का-प्रदूषण -राजनीतिक-तकरार -मनोज-तिवारी -अरविंद-केजरीवाल -गिरिराज-सिंह--

You can share this post!

Chhath Puja 2021: महापर्व छठ आज नहाय-खाय से शुरू, सूर्य आराधान के साथ चार दिन चलेगा

छठ पूजा के अंतिम दिन 'ऊषा अर्घ्य' के लिए देश भर में घाटों पर उमड़े श्रद्धालु

Leave Comments