होम / लाइफस्टाइल

छठ पूजा के अंतिम दिन 'ऊषा अर्घ्य' के लिए देश भर में घाटों पर उमड़े श्रद्धालु

दिल्ली सहित देश भर में में छठ पूजा के अंतिम दिन भक्तों ने सूर्य भगवान को अर्घ्य दिया। दिल्ली में कालिंदी कुंज के पास जहरीले झाग से भरी यमुना नदी में लोग खड़े होने को विवश हुए।

छठ पूजा के अंतिम दिन देश भर में घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़

नई दिल्ली: छठ पूजा के अंतिम दिन भगवान सूर्य को 'ऊषा अर्घ्य' अर्पित करने के लिए देश भर में घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। दिल्ली में छठ पूजा के अंतिम दिन कालिंदी कुंज के पास जहरीले झाग से भरी यमुना नदी में घुटने तक गहरे पानी में खड़े होकर भक्त सूर्य भगवान को अर्घ्य चढ़ाने को मजबूर हुए। जबकि दिल्ली सरकार ने भजनपुरा के गावड़ी इलाके में छठ पूजा घाट के पास भक्तों के लिए एक COVID वैक्सीन का टीकाकरण शिविर लगाया। एसडीएम शरत कुमार ने बताया कि ''शिविर का आयोजन उन लोगों के लिए किया गया,जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली थी या जिनको दूसरी खुराक लगने वाली थी। यहां करीब 8,000 लोग पूजा करने आए।''

बिहार में छठ पूजा उत्सव के अंतिम दिन शहर के पटना कॉलेज घाट पर लोगों ने सूर्य देव को 'अर्घ्य' अर्पित किया। इसके अलावा छठ पूजा करने के लिए पटना के पाटीपुल घाट पर भी गंगा नदी के किनारे श्रद्धालु जुटे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में सभी छठ व्रतियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रशासन की तरफ़ से काफी तैयारी की गई थी, जो अब सफल हुई है। पिछले वर्ष कोरोना के कारण इतने उल्लास से छठ नहीं मनाया गया था। इस बार कोरोना में कमी आई है। 

 

झारखंड में चार दिवसीय छठ पूजा के अंतिम दिन रांची के हटनिया तालाब में श्रद्धालुओं ने सूर्य देव तो अर्घ्य चढ़ाया। जबकि महाराष्ट्र में मुंबई के कुर्ला इलाके में एक तालाब में 4 दिवसीय छठ पूजा उत्सव के अंतिम दिन बड़ी संख्या में भक्तों ने सूर्य देव को 'ऊषा अर्घ्य' चढ़ाया। पश्चिम बंगाल: मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने छठ पर्व के अवसर पर कोलकाता के दही घाट पर पूजा की। 

दिल्ली में छठ पर जमकर हुई राजनीति 

छठ पर यमुना में फैली गंदगी को लेकर जमकर राजनीति हुई। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने आम आदमी पार्टी की राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यमुना में नाले का गंदा पानी डाला जाता है। जिसको साफ करने के प्लांट को लगाने के लिए केंद्र सरकार ने 2,419 करोड़ रुपये दिल्ली सरकार को दिए हैं। लेकिन दिल्ली सरकार ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की और वो पैसा कहां गया किसी को नहीं पता। जबकि यमुना के घाटों पर छठ पूजा मनाने पर रोक को मानने से इनकार करते हुए भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि हम उस प्रतिबंध को नहीं मानते और हम इस प्रतिबंध को तोड़ रहे हैं। हम जाएंगे (सोनिया विहार यमुना घाट) और जो रोकने वाले होंगे हम उन लोगों से जूझेंगे।

दिल्ली सरकार ने किया बढ़िया व्यवस्था होने का दावा

जबकि दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने छठ पूजा पर सरकार की व्यवस्था ठीक होने का दावा किया। राय ने कहा कि पूरी दिल्ली में कोविड निर्देशों का पालन करते हुए 800 से ज़्यादा जगहों पर छठ पूजा का आयोजन किया गया। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ईस्ट किदवई नगर जाकर छठ पूजा करने वाले श्रद्धालुओं से मुलाक़ात की।

ये भी पढ़ें: BJP ने मलिक के आरोपों पर किया पलटवार, फडणवीस के माफिया से संबंध को किया खारिज

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस बार कोरोना के कारण बहुत सारी परेशानियां थीं लेकिन छठी मईया के आशीर्वाद से हम छठ मना रहे हैं। सबके सुख की कामना कीजिए, चाहे हमारी पार्टी के हो या दूसरी पार्टी के। ये वक़्त राजनीति करने का नहीं है। मैं विरोधियों के भी सुख की कामना करता हूं। केजरीवाल ने कहा कि अभी कोरोना ख़त्म नहीं हुआ है, इसलिए सावधानी बरतें। इस बार डेंगू के मामले ज़्यादा आए हैं। मौसम बदल रहा है। मुझे उम्मीद है कि हफ्ते, 10 दिन के अंदर हम डेंगू को नियंत्रित कर देंगे। 

Related Tags:
Chhath-Puja -Delhi -Maharashtra -Jharkhand -Bihar -छठ-पूजा -दिल्ली -महाराष्ट्र -झारखंड -बिहार-

You can share this post!

छठ पूजा में यमुना के प्रदूषित होने को लेकर राजनीतिक तकरार तेज

अयोध्या में पंचकोसी परिक्रमा शुरू, आस्था पर हर पग न्योछावर; जानें अध्यात्मिक महत्व

Leave Comments