होम / दुनिया-जहान

चीन के खिलाफ काठमांडू में नेपाली युवा प्रदर्शन पर क्यों हुए मजबूर, जानिए..

एक युवा संगठन के सदस्यों ने नेपाल-चीन सीमा पर अपने देश की जमीन पर कथित अतिक्रमण के विरोध में चीन के खिलाफ मंगलवार को राजधानी काठमांडू में प्रदर्शन किया।

चीन के खिलाफ काठमांडू में नेपाली युवाओं का प्रदर्शन.

काठमांडू, (एजेंसी) : चीन के विस्तारवादी कदमों को लेकर नेपाल के युवाओं में असंतोष पनपने लगा है। महंत ठाकुर की अगुवाई वाली नेपाल की डेमोक्रेटिक सोशलिस्ट पार्टी से संबद्ध एक युवा संगठन ने नेपाल-चीन सीमा पर अपने देश की जमीन पर कथित रूप से अतिक्रमण करने पर चीन के खिलाफ मंगलवार को राजधानी काठमांडू में प्रदर्शन किया।

डेमोक्रेटिक यूथ एसोसिएशन के करीब 200 सदस्यों ने ध्वज मन मोकतन के नेतृत्व में काठमांडू शहर के बीचोंबीच मैतीघर मंडाला में प्रदर्शन किया और पोस्टर लहराए। इन पोस्टर पर लिखा था ‘हमारी कब्जाई जमीन लौटा दो’। प्रदर्शनकारियों ने यह मांग भी उठाई कि नेपाल-चीन सीमा पर लीमी लापचा से हुमला जिले में हिल्सा तक चीन द्वारा कथित भूमि अतिक्रमण का अध्ययन करने के लिए बनाई गयी समिति की रिपोर्ट सरकार को सार्वजनिक करनी चाहिए।

ये भी पढ़ें: अमेरिका में अफगान शरणार्थियों पर महिला सैनिक को घेरने का आरोप, कैसे बचकर निकली! जानिए..

प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के नेतृत्व वाली सरकार ने हाल में समिति का गठन किया था। हालांकि सरकार ने अभी तक रिपोर्ट जारी नहीं की है। खबरों के अनुसार चीन ने नेपाल की जमीन पर कब्जा कर लिया है और पिछले साल हुमला में नौ इमारतों का निर्माण किया। चीन के दूतावास ने हाल में एक बयान जारी कर दावा किया था कि नेपाल और चीन के बीच कोई सीमा समस्या नहीं है।
 

You can share this post!

अमेरिका ने आखिरकार अफगान युद्व को रणनीतिक विफलता माना, कारण जानिए..

अमेरिका में हत्या के मामले बढ़ने के कई कारण, कोविड-19 के अलावा कौन, जानिए..

Leave Comments