होम / दुनिया-जहान

UNSC वीटो पॉवर: भारत के दावे को बाइडेन के समर्थन की बड़ी वजह जानिए..

पीएम मोदी से मुलाकात के दौरान राष्ट्रपति जो बाइडेन ने स्पष्ट तौर पर विचार व्यक्त किया कि भारत की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता होनी चाहिए।

UNSC वीटो पॉवर पर भारत के दावे को बाइडेन का समर्थन.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका की यात्रा के दौरान भारत के UN सुरक्षा परिषद में स्थाई सदस्यता के दावे को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन का मजबूत समर्थन मिला है। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान राष्ट्रपति जो बाइडेन ने स्पष्ट तौर पर विचार व्यक्त किया कि भारत की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता होनी चाहिए।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्यता के भारत के दावे का अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के समर्थन करने की कई बड़ी वजहें हैं। भारत दुनिया की सबसे तेजी से उभरती हुई आर्थिक और सैनिक महाशक्ति है। चीन से परेशान अमेरिका को भारत के समर्थन की जरूरत है। अमेरिका एक ऐसा सहयोगी चाहता है जो सभी अंतर-राष्ट्रीय मंचों पर चीन के वर्चस्व कायम करने की डिप्लोमेसी का मजबूती से मुकाबला कर सके। इस मामले में अमेरिका के कई नाटो सहयोगी कमजोर पड़ते जा रहे हैं।   

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका यात्रा के दूसरे दिन राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ द्विपक्षीय बैठक की। राष्ट्रपति जो बाइडेन के कार्यभार संभालने के बाद प्रधानमंत्री मोदी की उनसे पहली मुलाकात थी। दोनों देशों के नेताओं ने अफगानिस्तान में आतंकवाद से लड़ाई के महत्व पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि तालिबान को UNSC प्रस्ताव 2593 के लिए अपनी प्रतिबद्धता का ध्यान रखना चाहिए और अफगान क्षेत्र का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं होना चाहिए।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस बात पर सहमति जताई कि आतंकवाद एक महत्वपूर्ण मुद्दा है। दोनों देशों ने आतंकवाद से लड़ने के लिए प्रतिबद्धता जताई। भारत-अमेरिका डिफेंस संबंधों पर भी चर्चा हुई। दोनों पक्षों द्वारा डिफेंस में नए हाई टेक्नोलॉजी प्रोजेक्ट पर साथ काम करने की इच्छा जताई गई।

ये भी पढ़ें: Quad Summit: PM मोदी ने दुनिया को दिया नए भारत का संदेश, जानिए बड़ी बातें..

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कोविड की दूसरी लहर के दौरान भारत सरकार द्वारा लिए गए फैसलों की सराहना की। उन्होंने भारत सरकार द्वारा वैक्सीन का निर्यात फिर से शुरू करने के फैसले का स्वागत किया। पीएम मोदी ने पहली फिजिकल क्वाड समिट आयोजित करने की ऐतिहासिक पहल के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन को धन्यवाद दिया। उल्लेखनीय है कि क्वाड लीडर्स समिट में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन, जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने हिस्सा लिया। 
 

You can share this post!

quad summit: PM मोदी ने दुनिया को दिया नए भारत का संदेश, जानिए बड़ी बातें..

तस्वीरों में देखें पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन की मुलाकात

Leave Comments