होम / दुनिया-जहान

विदेश मंत्री जयशंकर ने की मैक्सिको के राष्ट्रपति से मुलाकात

मैक्सिको की तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर गए विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने सोमवार को मैक्सिको के राष्ट्रपति मैनुअल लोपेज ओब्रेडोर से मुलाकात की।

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने मैक्सिको के राष्ट्रपति से मुलाकात की.

नई दिल्ली: विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने सोमवार को मैक्सिको के राष्ट्रपति मैनुअल लोपेज ओब्रेडोर से मुलाकात की। वह लैटिन अमेरिकी देश की तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर हैं, जिसका मकसद व्यापार, निवेश और अन्य क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देना है।

जयशंकर ने ट्वीट किया, “दो महाद्वीप। दो सभ्यताएं। साझा चिंताएं। मैक्सिको शहर में ‘रिटर्न्ड हेरिटेज’पर एक कार्यक्रम में भाग लिया। वहां राष्ट्रपति लोपेज़ ओब्रेडोर से मिलकर खुशी हुई।” 

जयशंकर ने फर्स्ट लेडी बीट्रिज़ गुतिरेज़ मुल्लेर, विदेश मंत्री मार्सेलो एब्रार्ड और रक्षा मंत्री लुइस क्रेसेंसियो सैंडोवल के साथ अपने फोटो भी साझा किए हैं। विदेश मंत्री के रूप में जयशंकर की उत्तरी अमेरिकी देश की यह पहली यात्रा है। मैक्सिकों के वित्त एवं सार्वजनिक ऋण मंत्री रोगेलियो रामिरेज़ डी ला ओ ने उनका स्वागत किया, जिनके साथ उन्होंने कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने के मैक्सिको के प्रयासों पर चर्चा की।

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘ मेरा स्वागत करने के लिए वित्त एवं सार्वजनिक ऋण मंत्री रोगेलियो रामिरेज़ डी ला ओ का धन्यवाद। कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने के मैक्सिको के प्रयासों पर उनके साथ चर्चा की।’’ संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के समापन के बाद जयशंकर मैक्सिको के विदेश मंत्री मार्सेलो एब्रार्ड के आमंत्रण पर अमेरिका से सीधे यहां पहुंचे हैं। जयशंकर विश्व के अन्य नेताओं के साथ मैक्सिको की स्वतंत्रता के सुदृढ़ीकरण की 200 वीं वर्षगांठ पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान की तारीफ और राग कश्मीर, आखिर क्या है तालिबान का प्लान !

विदेश मंत्रालय के अनुसार, फिलहाल, मैक्सिको लैटिन अमेरिका में भारत का दूसरा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है और 2021-22 के लिए भारत के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) का अस्थायी सदस्य है।
 

You can share this post!

हवा में प्लेन, फ्यूल खत्म, लैंडिंग गियर जाम: 2 घंटे तक 73 लोगों को मौत का इंतजार, और फिर हुआ चमत्कार!

ब्रिटेन में ईंधन डिलीवरी के लिए सेना लगाने की तैयारी, कैसे आई ये नौबत जानिए..

Leave Comments