होम / दुनिया-जहान

श्रीलंका के पूर्व प्रधानमंत्री के घर पर आगजनी, हिंसा में सांसद सहित 5 की मौत

श्रीलंका में जारी हिंसा में पूर्व प्रधानमंत्री सहित कई नेताओं के घरों को आग के हवाले कर दिया, झड़प में 5 लोग मारे गए हैं।

नई दिल्ली: श्रीलंका में कोरोना के बाद बिगड़े हालात के कारण देश में जारी  प्रदर्शन को लेकर लोगों के विरोध को देखते हुए  प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे ने इस्तीफा दे दिया लेकिन वहां की सड़कों पर जारी प्रदर्शन नहीं रुका।

राजपक्षे के घर पर हमला

राजपक्षे के इस्तीफा देने के कुछ समय बाद सरकार विरोधी एक समूह ने राजपक्षे के पैतृक आवास पर हमला कर उसे आग के हवाले कर दिया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, वीडियो फुटेज में साफ तौर पर देखा जा सकता हैं। हंबनटोटा शहर के मेदामुलाना में स्थित महिंदा राजपक्षे और उसके छोटे भाई और श्रीलंका राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के आवास को आग के हवाले  दिया। साथ ही वहां मौजूद मंत्रियों और सांसदों की संपत्तियों को नष्ट कर दिया गया।

जनता में भारी असंतोष

श्रीलंका से आई मीडियो रिपोर्ट के अनुसार, कोलंबो में प्रधानमंत्री के सरकारी आवास 'टेंपल ट्रीज' के पिछले गेट के पास प्रदर्शनकारियों ने आग लगाई। खबर के अनुसार कहा गया कि पुलिस ने आग पर काबू पाने के लिए तुरंत खबर भेज आग बुझाने वाली गाड़ी को बुलाया लेकिन प्रदर्शनकारियों उस वाहन पर भी हमला करने से नहीं चूके। प्रदर्शनकारियों ने बादुल्ला जिला के सांसद तिस्सा कुटियाराच के आवास पर भी धावा बोल उसे भी आग के हवाले कर दिया। आग की घटना में सांसद संथा निशांत का घर  पूरी तरह तबाह हो गया। 

इसे भी पढ़ें: ज्ञानवापी मस्जिद केस पर आज फिर होगी सुनवाई

महापौर के घर पर हमला 

अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहें आक्रोशित भीड़ ने सत्ता पक्ष के साथ ही पूर्व मंत्री जॉनसन फर्नांडो के कुरुनेगला और कोलंबो स्थित दफ्तर पर हमला कर उसमें आग लगा दी। हालांकि इसी पुष्टि नहीं हो पाई है। प्रदर्शनकारी फिर भी नहीं रुके और जॉनसन के यहां से निकल एक और पूर्व मंत्री नीमल लांजा के आवास पर पहुंच हमला कर दिया और महापौर लाल फर्नांडो के आवास में आग लगा दी।

 

मजदूर नेता के आवास को लगाई आग

प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने सत्तारूढ़ दल के मजदूर नेता कहानदागमागे के कोलंबो स्थित आवास को भी नहीं छोड़ा। रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के समर्थकों द्वारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहें लोगों पर हमला किए जाने के बाद हिंसा भड़की है और आग लगाने की घटना शुरू हुआ। 

इसे भी पढ़ें: नागपुर में बड़ा हादसा टला, रेलवे स्टेशन पर मिला जिलेटिन से भरा बैग

हिंसा मे 5 की मौत 150 से अधिक घायल

आगजनी, और हमले  तब शुरु हुए जब कोलंबो में महिंदा राजपक्षे के समर्थकों और सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प होने के कारण वहां कर्फ्यू लगा दिया गया था। कोलंबो में हुई हिंसा के कारण जहां 5 लोगों के मारे जाने की खबर है जिसमे एक सांसद भी शामिल हैं वहीं, 150 से अधिक लोग इसमें घायल भी हो गए हैं।

2019 से बिगड़े हालात

पिछले महीने से बढ़ती कीमतों और बिजली कटौती को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। 1948 से ब्रिटेन से स्वतंत्रता पाने वाला श्रीलंका इस समय गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। जिसका जिम्मेदार कोरोना संक्रमण के समय से ठप हो चुके पर्यटन और यूक्रेन रशिया युद्ध को बताया जा रहा है।

राष्ट्र से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें  National News In Hindi

    

You can share this post!

लंबे विरोध के बाद श्रीलंका के पीएम महिंदा राजपक्षे ने दिया इस्तीफा

श्रीलंका में बेकाबू हो चुके हालात, दंगाइयों को देखते ही गोली मारने का आदेश

Leave Comments