होम / कुछ सुना आपने

Good News: देश में फिर कम होंगी पेट्रोल-डीजल की कीमतें, मोदी सरकार करेगी ये बड़ा उपाय

दुनियाभर में कच्चे तेल (Crude Oil) की आसमान छूती कीमतों से कई देश अपने स्तर पर इस समस्या से निपटने की कोशिश कर रहे हैं।

सांकेतिक चित्र

नई दिल्लीः केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार एक बार फिर से देश की जनता को राहत देने की तैयारी कर रही है। देश का आम आदमी पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों (Petrol Diesel Price Hike) से परेशान है। डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी की वजह से देश में महंगाई भी चरम सीमा को छूने लगी है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार देश में एक बार फिर पेट्रोल-डीजल के दामों को कम करने के लिए एक नई योजना तैयार कर रही है।

आपको बता दें कि दुनियाभर में कच्चे तेल (Crude Oil) की आसमान छूती कीमतों से कई देश अपने स्तर पर इस समस्या से निपटने की कोशिश कर रहे हैं। भारत भी कच्चे तेल की कीमतों में कमी लाने के लिए बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की तर्ज पर अपने रणनीतिक तेल भंडार (Oil Reserve) से कच्चे तेल निकालने की संभावनाओं पर गौर कर रहा है।

दीपावली पर मोदी सरकार ने दी थी राहत

आपको बता दें दुनिया भर में पेट्रोल डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के बीच देश की नरेंद्र मोदी सरकार ने दिवाली के मौके पर आम लोगों को पेट्रोल और डीजल की कीमतों को कम करके बड़ी राहत दी थी। तब केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये एक्साइज ड्यूटी (Excise duty on Petrol-Diesel) में कटौती की थी जिसके बाद राज्यों ने वैट में छूट कर जनता को और ज्यादा राहत दी थी।

यह भी पढ़ेंः पेट्रोल-डीजल पर वैट : दिल्ली में ज्यादा टैक्स पर कांग्रेस ने केजरीवाल को घेरा, डीलरों ने लिखा लेटर

ऐसे पेट्रोल डीजल के दामों पर नकेल कसेगी सरकार

मोदी सरकार ने देश में तेल के दामों पर नकेल कसने के लिए योजना तैयार कर रही है। मोदी सरकार इस योजना के अंतर्गत कच्चे तेल की कीमतों को कम करने के लिए अन्य प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के साथ तालमेल बैठाकर अपने रणनीतिक तेल भंडार से 50 लाख बैरल तेल की निकासी की योजना बना रहा है। सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए बताया  बताया कि रणनीतिक भंडार से निकाले जाने वाले इस कच्चे तेल को मंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड (MRPL) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (HPCL) को बेचा जाएगा। ये दोनों सरकारी तेल शोधन इकाइयां रणनीतिक तेल भंडार से पाइपलाइन के जरिये जुड़ी हुई हैं।

यह भी पढ़ेंः दीवाली का तोहफा : केंद्र के पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद कई राज्यों ने भी की वैट में कमी

सरकार जल्दी ही करेगी ऐलान

इस अधिकारी ने मीडिया को ये भी बताया है कि केंद्र सरकार बहुत जल्दी ही इस बात का औपचारिक ऐलान करने वाली है। अधिकारी ने आगे बताया कि आने वाले 7 से 10 दिनों में तेल के निकासी की ये प्रकिया शुरू कर दी जाएगी। वहीं उन्होंने ये भी बताया कि जरूरत पड़ने पर भारत अपने रणनीतिक भंडार से और कच्चे तेल की निकासी का फैसला ले सकता है। भारत ने कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में जारी तेजी के बीच अन्य बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के साथ मिलकर अपने आपातकालीन तेल भंडार से निकासी का मन बनाया है। आपको बता दें कि भारत के पूर्वी एवं पश्चिमी दोनों तटों पर रणनीतिक तेल भंडार स्थित हैं। 

Related Tags:
Petrol-Diesel-price -petrol-rate -petrol-price -fuel-price -fuel-rate -modi-government -modi-govt -HPCommonManIssue

You can share this post!

भारतीय संस्कृति से इतनी प्रभावित हुई ये फ्रेंच लड़की, बिहार आकर कर ली देसी छोरे से शादी

TMC में शामिल हो सकते हैं सुब्रमण्यम स्वामी? ममता से मुलाकात पर सियासी गलियारों में सुगबुगाहट

Leave Comments