होम / क्राइम

Narendra giri death: महंत नरेंद्र गिरी के चेले आनंद गिरी सहित 3 हिरासत में

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद उनके चेले आनंद गिरी और प्रयागराज के मशहूर लेटे हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को हिरासत में लिया गया है।

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत के बाद उनके चेले आनंद गिरी सहित 3 हिरासत में.

प्रयागराज: अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद उनके चेले आनंद गिरी सहित 3 लोगों को हिरासत में लिया गया है। आनंद गिरी के अलावा प्रयागराज के मशहूर लेटे हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को हिरासत में लिया गया है।

उत्तराखंड के हरिद्वार में पुलिस हिरासत में लिए जाने से पहले आनंद गिरी ने एक न्यूज चैनल से कहा कि उनको फंसाने के लिए एक बड़ी साजिश रची गई है। मेरे गुरु नरेंद्र गिरी ऐसे व्यक्ति नहीं थे, जो सुसाइड कर लें। नरेंद्र गिरी की मौत को हत्या करार देते हुए आनंद गिरी ने इसके पीछे एक बड़ी साजिश होने की बात कही। आनंद गिरी ने कहा कि नरेंद्र गिरी ने अपने जीवन में कभी भी कोई एक पूरा पत्र नहीं लिखा। जबकि कहा जा रहा है कि उन्होंने 6-7 पेज का सुसाइड नोट लिखा है।   

यूपी के एडीजी (लॉ एंड आर्डर) प्रशांत कुमार ने जानकारी दी है कि आनंद गिरी को उत्तराखंड पुलिस के सहयोग से हिरासत में लिया गया। आनंद गिरी को प्रयागराज लाया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का शव बाघंबरी मठ के उनके कमरे में संदिग्ध परिस्थितियों में रस्सी से लटका हुआ पाया गया था। अभी तक इस बात की पुष्टि  नहीं हो पाई है कि उन्होंने आत्महत्या की है या फिर उनकी हत्या कर किसी ने उनके शव को फंदे से लटकाया है।

ये भी पढ़े: अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरि का निधन, संदिग्ध परिस्थितियों में लटका मिला शव

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद से अल्लापुर के बाघंबरी गद्दी इलाके में अफरा-तफरी का माहौल हो गया था। घटना के बाद प्रयागराज के आईजी केपी सिंह सहित तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। ये हत्या है या आत्महत्या, इसके पीछे के कारणों का खुलासा अभी नहीं हो पाया है। प्रयागराज पुलिस ने महंत के शव को अपने कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। 

 

महंत नरेंद्र गिरी इसके पहले भी विवादों में रहे हैं। अपने शिष्य आनंद गिरी से भी महंत का विवाद हुआ था, जिसकी वजह से नरेंद्र गिरी मीडिया की सुर्खियों में आए थे। दोनों के बीच संपत्ति को लेकर विवाद था। जिसे बाद में एक आला अधिकारी के माध्यम से सुलझा लिया गया था। 

You can share this post!

फेसबुक चैटिंग के चक्कर में गई महिला की जान, पति ने गला घोंटकर की हत्या

Narendra Giri Death: योगी आदित्यनाथ का दोषियों को सजा दिलाने का वादा

Leave Comments