होम / क्राइम

Justice for Rabia: राबिया को इंसाफ दिलाने के लिए देशभर में कैंडल मार्च

राबिया की हत्या की हत्या को 10 दिन से भी ज्यादा समय गुज़र जाने के बाद भी उसके परिजनों को न्याय नहीं मिला और ना ही केंद्र या राज्य सरकारों ने किसी तरह के जांच के आदेश जारी किए गए।

Justice for Sabia Candle March

देश की राजधानी दिल्ली के संगम विहार की बेटी राबिया की निर्मम हत्या का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। सिविल डिफेन्स कर्मी के तौर पर तैनात राबिया की बर्बरतापूर्ण हत्या को लेकर दिल्ली सहित पूरे देश में आक्रोश है। राबिया की हत्या की हत्या को 10 दिन से भी ज्यादा समय गुज़र जाने के बाद भी उसके परिजनों को न्याय नहीं मिला और ना ही केंद्र या राज्य सरकारों ने किसी तरह के जांच के आदेश जारी किए गए। राबिया को इंसाफ़ दिलाने के लिए दिल्ली में ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन दिल्ली के अध्यक्ष कलीमुल हफ़ीज़ ने कैंडल मार्च निकाला।  

इस कैंडल मार्च मार्च में भारी तादात में महिलाओं और पुरुषों ने अपनी मौजूदगी जताई। ये मार्च शाहीन बाग पुलिस स्टेशन से शुरू होकर शाहीन बाग मार्केट से होता हुआ 40 फुटा चौराहा पर ख़त्म हुआ। इसके अलावा दिल्ली के जैतपुर, जामा मस्जिद, मुस्तफ़ाबाद, सीलमपुर, सीमापुरी, करावल नगर, बदरपुर, क़ुरैश नगर,  श्री राम कॉलोनी, क़बीर नगर, बाबरपुर और जामा मस्जिद आदि जगहों पर मजलिस के कार्यकर्ताओं ने राबिया सैफ़ी के लिए कैंडल मार्च निकाल कर प्रदर्शन किया। इस कैंडल मार्च में शामिल लोगों के हाथों में प्लेकार्ड था जिसपर लिखा हुआ था, राबिया के हत्यारों को फांसी दो, केजरीवाल होश में आओ, राबिया के घर वालों को मुआवज़ा दो के नारे भी लगे।

लखनऊ में भीम ऑर्मी ने राबिया के लिए किया कैंडल मार्च

वहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी भीम ऑर्मी चीफ चंद्रशेखर उर्फ रावण की अगुवई में राबिया को न्याय देने के लिए कैंडल मार्च निकाला गया। भीम आर्मी चीफ़ चंद्रशेखर आज़ाद ने सोमवार की शाम लखनऊ में राबिया हत्याकांड में न्याय की मांग को लेकर कैंडल मार्च निकाला। इस कैंडल मार्च के दौरान बड़ी संख्या में लोगों बढ़चढ़कर हिस्सा लिया और राबिया की हत्या के आरोपियों के लिए सजा की मांग की। आपको बता दें कि इसके पहले 27 अगस्त को दिल्ली की रहने वाली राबिया की निर्मम हत्या कर दी गई थी। राबिया के शरीर पर 50 चाकुओं के निशान पाए गए थे।

अलीगढ़ में सपा ने राबिया को न्याय दिलाने के लिए निकाला कैंडल मार्च

वहीं अलीगढ़ में समाजवादी पार्टी के बैनर तले हबीब गार्डन से लेकर सेंटर प्वाइंट चौराहे तक हत्यारों को सजा दिलाने और परिजनों को न्याय दिलाने के लिए कैंडल मार्च निकाला। समाजवादी नेता ने कहा, दिल्ली के अंदर 21 वर्षीय युवती की युवती जो दिल्ली सिविली डिफेन्स में कार्यरत थी, उस बेटी के साथ कुछ दरिंदों ने बलात्कार करने के बाद उसकी बेरहमी के साथ निर्ममता से हत्या कर दी गई थी। दरिंदों ने बलात्कार और हत्या करने के बाद उसके शव को हरियाणा राज्य के फरीदाबाद में ले जाकर फेंक दिया गया था। जिसका शव फरीदाबाद से बरामद हुआ था। 

यूपी के मुराद नगर में राबिया के लिए कैंडल मार्च

सोमवार को मुरादाबाद के नगर पंचायत पाकबड़ा में भी राबिया को इंसाफ दिलाने के लिए मजलिस- ए- इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नगर अध्यक्ष रियासत हुसैन ने कैंडल मार्च निकाला। इस कैंडल मार्च में उनके साथ कार्यकर्ताओं का जमावड़ा मौजूद रहा। इस कैंडल मार्च के दौरान राबिया सैफी के हत्यारों को फांसी सजा, राबिया के परिजनों को मुआवजा और परिवार के सदस्यों को नौकरी देने की मांग की गई। मार्च में शामिल लोगों ने राबिया सैफी के नाम से उनकी ग्राम पंचायत में सरकारी अस्पताल खोलने की मांग भी की थी। राबिया के लिए शुरु किया गया ये कैंडल मार्च शनिवार के बाजार से शुरू होकर जुम्मेरात की नजर से होते हुए कैलसा रोड से जीरो प्वाइंट तक किया गया। इस दौरान भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।

You can share this post!

जावेद अख्तर के घर के बाहर पुलिस सुरक्षा लगाई गई 

सोशल मीडिया पर क्यों गूंज रहा है #JusticeForRabia, कौन है राब‍िया? जानें यहां

Leave Comments