होम / क्राइम

e-Shram Card बनाने के नाम पर ठगी, महिला से वसूले 20 हजार रूपये; 2 गिरफ्तार

सहारनपुर पुलिस इंस्पेक्टर बृजेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि भूरी पत्नी शकील व हफीन पत्नी हाक्कम निवासी पाजराना कोतवाली बेहट ने तहरीर दी है कि दो लोगों ने...

प्रतीकात्मक तस्वीर

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश के सहारनपुर पुलिस ने बुधवार को महिलाओं से 20 हजार रुपये ठगने के आरोप मे दो आरोपितों को गिरफ्तार कर उनसे एक मोबाइल, एक बाइक तथा नकदी बरामद किया और दोनों को जेल भेज दिया गया। इन दोनों ने ई-श्रम कार्ड बनाने के नाम पर महिला से पैसे ऐंठे थे।

ई-श्रम कार्ड बनाने के नाम पर ठगी का धंधा

सहारनपुर पुलिस इंस्पेक्टर बृजेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि भूरी पत्नी शकील व हफीन पत्नी हाक्कम निवासी पाजराना कोतवाली बेहट ने तहरीर दी है कि दो लोगों ने ई-श्रम कार्ड बनाने के नाम पर उनके खाते से 10-10 हजार रुपये अपने खाते में ट्रांसफर कर लिए हैं। इस पर उन्होंने एक सूचना के आधार पर जसमौर में पीएनबी शाखा के बाहर से दोनों आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इंस्पेक्टर ने बताया कि इनके कब्जे से एक मोबाइल, बाइक बरामद हुई है। पुलिस द्वारा जांच में दोनों आरोपियों ने अपना नाम श्रीकांत पुत्र विनोद व अनुज पुत्र ओमपाल निवासी अकबरगढ़ थाना चरथावल जिला मुजफ्फरनगर बताया है। दोनों आरोपितों द्वारा ई-श्रम कार्ड बनाना का कार्य करने को स्वीकार किया गया।

ये भी पढ़ें: पैरालंपिक गोल्ड मेडलिस्ट अवनी लखरा के पास पहुंची ये चीज, आनंद महिंद्रा को बोलीं- थैंक यू

पुलिस कर रही ऐसे अन्य मामलों की जांच

पूछताछ करने पर उसने स्वीकार किया कि उसने महिला को ठगा और उससे उक्त राशि वसूल की। इस बीच बृजेश कुमार पाण्डेय ने कहा, यह पता लगाने के लिए जांच की जा रही है कि क्या दोनों आरोपियों ने इस तरह के अन्य अपराध किए हैं।

केंद्र सरकार लाई थी योजना, मिला कईयों को लाभ

केंद्र सरकार पिछले साल अगस्त माह में असंठित क्षेत्र के कामगारों के लिए ई-श्रम (E-SHRAM Portal) पोर्टल लेकर आई। सरकार की ओर से दावा किया गया कि इससे असंगठित क्षेत्र के करीब 38 करोड़ कामगारों को फायदा होगा। अब तक 20 करोड़ लोग ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने वाले कामगार को एक ई-श्रम कार्ड (e-SHRAM Card) जारी किया जाता है, जिसकी मदद से रजिस्टर्ड कामगार देश में कहीं भी, कभी भी विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ ले सकते हैं। इसके अलावा फ्री दुर्घटना बीमा की मदद भी है।

You can share this post!

तकनीकी रूप से एडवांस हुए सट्टेबाज, पुलिस से बचने के लिए ले रहे डिजिटल सेवाएं

उत्तर प्रदेश में मूक-बधिर से दुष्कर्म के आरोप में 60 वर्षीय बुजुर्ग गिरफ्तार

Leave Comments