होम / क्राइम

दिल्ली सिविल डिफेंस में तैनात युवती की हरियाणा में निर्मम हत्या, 50 बार चाकू से किया वार

युवती के शव पर पोस्टमार्ट में 50 जगह चाकुओं से गोदने के निशान आये हैं। यहां तक कि उसके स्तनों को भी चाकू से काट डाला गया। हालांकि गैंगरेप की बात भी परिजन कह रहे हैं, लेकिन इसकी पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है।

सांकेतिक चित्र

दिल्ली/फरीदाबाद: दिल्ली सिविल डिफेंस में तैनात 21 वर्षीय युवती की चाकूओं से ताबड़तोड़ वार कर हत्या कर दी गई और शव को सूरजकुंड स्थित जगंल में फेंक दिया गया। युवती के शव पर पोस्टमार्ट में 50 जगह चाकुओं से गोदने के निशान आये हैं। यहां तक कि उसके स्तनों को भी चाकू से काट डाला गया है। हालांकि गैंगरेप की बात भी परिजन कह रहे हैं लेकिन इसकी पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है। घटना के बाद से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। हालांकि पुलिस ने गैंगरेप होने की बात से इनकार किया है, लेकिन परिजनों को पुलिस की बात पर विस्वास नहीं है और वो पूरे मामले की सीबीआई जांच चाहते हैं। वहीं मृतका के परिजनों का सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो इंसाफ की गुहार लगा रहे हैं। 

वहीं इम मामले में अब लोगों का गुस्सा भी बढता जा रहा है। लोग मृतका को इंसाफ दिलाने के लिए कैंडल मार्च कर रहे हैं। वहीं इस मामले में खुद को लड़की का पति कहने वाले शख्स ने कालिंदी कुंज थाने में जाकर पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। इस शख्स ने अपना जुर्म कबूल करते हुए कहा है कि उसने ही ये मर्डर किया है। परिजनों को पुलिस की इस थ्यौरी पर भरोसा नहीं है। परिजनों का ये भी आरोप है की घटना के पीछे कोई और भी बड़ा रहस्य छिपा है, जो सामने आने चाहिए। परिजनों का ये भी कहना है कि पुलिस जो शादी की बात कह रही है वो बिल्कुल गलत है, उन्हें पुलिस की इस बात पर एतराज है की उसने शादी की थी। अगर पुलिस बता रही है की युवती ने एक युवक से शादी की थी तो वो सबूत क्यों नहीं दिखा रही है।

क्या कहते हैं परिजन

आपको बता दें, दिल्ली संगम विहार में रहने वाली शहनाज बदला हुआ नाम उम्र 21 वर्ष  दिल्ली डिफेंस पुलिस में जॉब करती थी। वह लाजपतनगर स्थित डीएम आफिस में काम करती थी, जहां रविंद्र मेहरा, सिविल डिफेंस अधिकारी की पर्सनल असिस्टेंट थी।  जॉब करते हुए अभी सिर्फ चार महीने हुए थे ।  26/08/2021 की रात 8 बजे  से लड़की जॉब के बाद जब अपने समय पर घर नहीं लौटी तो लड़की के माता-पिता ने पुलिस थाने भी जा कर इस बात की जानकारी दी। इसके बाद डीएम ऑफिस में भी लड़की के परिजन गये वहां भी कोई मदद नहीं मिली। सुबह तक मां बाप ने रो-रो कर बेटी का इंतजार किया। परिजनों का कहना है कि वो हमेशा समय से घर आती थी। परिजनों का ये भी कहना है कि उनकी बेटी के साथ दरिंदगी हुई है उसके साथ गैंगरेप जैसी घटना को भी अंजाम दिया गया और उसके बाद बेरहमी से उसका कत्ल कर दिया गया।

यह भी पढ़ेंः मैसूर दुष्कर्म मामला : पीड़िता के दोस्त ने दर्ज कराया बयान

शरीर पर थे 50 चाकुओं के वार के निशान

युवती का शव पाए जाने के बाद उसके शरीर पर 50 जगह चाकुओं के निशान थे।जब उसकी डेड बॉडी को देखा गया तो परिजन सन्न रह गये। युवती के स्तन भी काट दिये गये थे शरीर को नोंचा गया था गले में चाकू देकर गर्दन को भी काट दिया था। इस मामले में परिजन अब सीबीआई की जांच चाहते हैं उन्हें पुलिस की थ्यौरी पर भरोसा नहीं है। परिजनों का ये भी आरोप है की घटना के पीछे और भी कुछ बड़ा रहस्य छिपा है जो सामने आने चाहिए। 

यह भी पढ़ेंः3 साल बाद जमीन से निकले तीन कंकाल, प्रेम प्रसंग के चलते पत्नी समेत दो बच्चों की हत्या का आरोपी लगा पुलिस के हत्थे

क्या कहती है पुलिस

दिल्ली के जैतपुर इलाके में रहने वाले 25 साल के निजामुद्दीन ने दिल्ली के कालिंदी कुंज थाने में जाकर बताया कि उसने 28 अगस्त को अपनी पत्नी राबिया की हत्या करके उसका शव फरीदाबाद के सूरजकुंड-पाली रोड के पास झाड़ी में फेंक दिया है। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने फरीदाबाद पुलिस को इस बात की जानकारी दी। जब फरीदाबाद पुलिस की टीम निजामुद्दीन के उस बताए हुए लोकेशन पर पहुंची तब पाया कि वहां एक लड़की का शव छत्त-विक्षत अवस्था में पड़ा हुआ था। उसके बाद फरीदाबाद पुलिस ने दिल्ली पुलिस से संपर्क कर उनके इनपुट्स की पुष्टि भी कर दी। जिसके बाद पुलिस ने उस शख्स को हिरासत में ले लिया। अधिकारियों के मुताबिक निजामुद्दीन ने पुलिस को बताया कि उसने अपनी पत्नी की हत्या इसलिए की, क्योंकि उसे शक था कि उसकी पत्नी का कथित तौर पर दूसरे व्यक्ति के साथ अवैध संबंध है।

यह भी पढ़ेंःदुःस्साहसः ग्रेटर नोएडा में रेस्टोरेंट मालिक की गोली मारकार हत्या, हत्यारे फरार

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण-पूर्व) आरपी मीणा ने कहा, "निजामुद्दीन शुक्रवार की सुबह कालिंदी कुंज पुलिस थाने में आया और उसने 26 अगस्त को फरीदाबाद के सूरजकुंड में अपनी पत्नी राबिया को घातक चोट पहुंचाने की बात कबूल की। जिसके बाद उसका बयान दर्ज किया गया। निजामुद्दीन ने हमें बताया कि इस साल 11 जून को दोनों ने साकेत कोर्ट में शादी कर ली थी। कुछ दिनों बाद, निजामुद्दीन को पता चला कि उसके अन्य लोगों के साथ कथित संबंध हैं।

कुछ और ही कहानी बयां कर रही पुलिस की थ्योरी

हालांकि इस पूरे मामले में पुलिस की थ्योरी कहीं से भी मैच करती हुई नजर नहीं आ रही है क्योंकि दिल्ली पुलिस ने परिजनों के कहने पर तुरंत एक्शन क्यों नहीं लिया? युवती का फोन ट्रेसिंग पर क्यों नहीं लगाया? जबकि महिला से संबंधित अपराधों को गंभीरता से लेना चाहिए। जिसकी वजह से परिजनों को शक है सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। युवती के परिजन चाहते हैं की पूरे मामले की निष्पक्ष जांच को और आरोपियों को सख्त से सख्त सजा मिले। वहीं युवती की हत्या के बाद से लोगों में भी काफी आक्रोश है और वह जगह जगह कैंडल मार्च निकाल रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी इंसाफ के लिए लोग मुहीम चला रहे हैं।

You can share this post!

3 साल बाद जमीन से निकले तीन कंकाल, प्रेम प्रसंग के चलते पत्नी समेत दो बच्चों की हत्या का आरोपी लगा पुलिस के हत्थे

दिल्ली सिविल डिफेंस में तैनात युवती के परिजनों को न्याय दिलाने News India पहुंचा ग्राउंड ज़ीरो

Leave Comments