होम / बिज़नेस

OLA ने दो दिन में ₹1,100 करोड़ के ई-स्कूटर बेचे

OLA कंपनी ने इलेक्ट्रिक स्कूटर के S1 और S1 Pro मॉडल पेश किए हैं। बिक्री के पहले दिन ओला इलेक्ट्रिक ने 600 करोड़ रुपये कमाए। OLA ने दावा किया कि पहले 24 घंटों में हर सेकेंड चार स्कूटर बेचे गए।

OLA ने दो दिन में ₹1,100 करोड़ के ई-स्कूटर बेचे

नई दिल्ली: ओला कैब्स के सह-संस्थापक भाविश अग्रवाल ने कहा कि ओला इलेक्ट्रिक ने दो दिन की बिक्री में ₹1,100 करोड़ रुपये से अधिक कीमत के इलेक्ट्रिक स्कूटर बेचे हैं। कंपनी ने ग्राहकों को अपनी पहली इलेक्ट्रिक स्कूटर रेंज की पेशकश की है। इसमें S1 और S1 Pro मॉडल शामिल हैं। बुधवार को बिक्री के पहले दिन ओला इलेक्ट्रिक ने 600 करोड़ रुपये कमाए। OLA कंपनी ने दावा किया कि उसने पहले 24 घंटों में हर सेकेंड में चार स्कूटर बेचे।  

ओला इलेक्ट्रिक के संस्थापक अग्रवाल ने एक ब्लॉग में लिखा कि “दो दिनों की बिक्री में हमने ₹1,100 करोड़ से अधिक की कमाई की है! यह न केवल ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में अभूतपूर्व है, बल्कि भारतीय ई-कॉमर्स हिस्ट्री में एक ही उत्पाद के लिए एक दिन में कीमत के आधार पर सबसे ज्यादा बिक्री में से एक है! हम वास्तव में एक डिजिटल भारत में रह रहे हैं।” बहरहाल उन्होंने ओला को मिले ई-स्कूटर के ऑर्डर की संख्या का खुलासा नहीं किया।  

अग्रवाल ने कहा कि जो ग्राहक पहली बिक्री में अपने लिए स्कूटर नहीं खरीद सके, वे ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर को रिजर्व करवा सकते हैं। कंपनी 1 नवंबर से दिवाली के करीब खरीद की दूसरी विंडो शुरू करने की योजना बना रही है। जानकारों का मानना है कि ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर की बिक्री, पारंपरिक पेट्रोल स्कूटर निर्माताओं को अपनी रणनीतियों पर फिर से विचार करने और ई-व्हीकल बाजार में तेजी से उतरने के लिए मजबूर करेगी।   

भारत में स्कूटर का बाजार लगभग 50-60 लाख सालाना है। इसमें ओला को ₹1,100 करोड़ के आंकड़े के आधार पर लगभग 100,000 स्कूटर के ऑर्डर मिले हैं। ओला के S1 की कीमत 99,999 रुपये है, जिसमें राज्यों और केंद्र सरकार की सब्सिडी शामिल नहीं है। जबकि S1pro  मॉडल की कीमत 1.3 लाख रुपये है। ई-स्कूटर की डिलीवरी अक्टूबर में 1,000 शहरों और कस्बों में शुरू होने की उम्मीद है। ओला ने अगस्त में कहा था कि वह अपने स्कूटरों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से बेचेगा।

You can share this post!

रेस्तरां के बजाए अब जोमैटो और स्विगी करेंगे GST का भुगतान

भारतीय किसानों को सीधे बाजार का लाभ दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है किसानप्रो

Leave Comments