होम / ये तो ब्रेकिंग है जी

NCB और मुंबई पुलिस ने समीर वानखेड़े के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच शुरू की

एनसीबी की टीम बुधवार दोपहर यहां पहुंची और बताया जा रहा है कि उसने जांच के लिए स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल को तलब करने के अलावा वानखेड़े का बयान दर्ज किया।

समीर वानखेड़े

नई दिल्लीः नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की सतर्कता (Vijilence) टीम और ACP स्तर के मुंबई पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यहां NCB के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के खिलाफ 'जबरन वसूली' के आरोपों और अन्य मुद्दों की स्वतंत्र जांच शुरू की है। एनसीबी की टीम बुधवार दोपहर यहां पहुंची और बताया जा रहा है कि उसने जांच के लिए स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल को तलब करने के अलावा वानखेड़े का बयान दर्ज किया।

वानखेड़े के खिलाफ मुंबई के अलग-अलग थानों में दर्ज कम से कम चार शिकायतें अब एसीपी संभालेंगे, जो मामले की जांच करने के साथ ही रिपोर्ट तैयार करेंगे। एनसीबी विजिलेंस टीम के सदस्य ज्ञानेश्वर सिंह ने मीडियाकर्मियों से कहा, हमने जांच शुरू कर दी है। यह एक बहुत ही संवेदनशील जांच है, कुछ भी साझा करना जल्दबाजी होगी।

यह भी पढ़ेंः Jail or Bail Live Updates: आर्यन खान की जमानत याचिका पर बहस कल भी रहेगी जारी, आज नहीं मिली बेल

एनसीबी विजिलेंस टीम के सदस्य ज्ञानेश्वर सिंह ने आगे कहा, हम सभी पहलुओं की जांच करेंगे और बाद में मीडिया को घटनाक्रम की जानकारी देंगे। वानखेड़े के खिलाफ दो स्वतंत्र जांच चलेंगी। समीर वानखेड़ पर पिछले तीन हफ्तों के दौरान राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के मंत्री नवाब मलिक द्वारा कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं, जबकि 23 अक्टूबर के सैल के हलफनामे में भी वानखेड़े के खिलाफ कई आरोप लगाए गए हैं।

यह भी पढ़ेंः नवाब मलिक का दावा, समीर वानखेड़े का बर्थ सर्टिफिकेट फर्जी होने पर छोड़ दूंगा राजनीति

अन्य बातों के अलावा, सैल ने दावा किया था कि एक अन्य एनसीबी स्वतंत्र गवाह कथित तौर पर बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान से 18 करोड़ रुपये निकालने के लिए एक माध्यम के रूप में काम कर रहा था, जिसमें से 8 करोड़ रुपये कथित तौर पर वानखेड़े के लिए थे। 

यह भी पढ़ेंः समीर वानखेड़े के बचाव में उतरी पत्नी क्रांति, सबूत है तो कोर्ट में पेश करें नवाब मलिक

समीर वानखेड़े पर लगे आरोप के अनुसार, यह वसूली शाहरुख के बेटे आर्यन खान को छोड़ने की एवज में की जानी थी। मुंबई में एनसीबी अधिकारी के खिलाफ अलग-अलग मामलों में कम से कम 4 अलग-अलग शिकायतें दर्ज की गई हैं, जिसकी जांच एसीपी स्तर के अधिकारी करेंगे।

You can share this post!

मुंबई सेशन कोर्ट ने खारिज की सचिन वाजे और सुनील माने की जमानत याचिका

कोविड के नियम तोड़कर दिल्ली के बाजारों में उमड़ी भीड़, 251 लोगों के कटे चालान

Leave Comments