होम / बात देश की

पहली बार सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों ने ली एक साथ शपथ

सुप्रीम कोर्ट में शपथ लेने वाले 9 जजों में 3 महिला न्यायाधीश शामिल हैं। जस्टिस बी.वी नागरत्ना को 2027 में कम समय के लिए ही देश के सुप्रीम कोर्ट की पहली महिला चीफ जस्टिस बनने का मौका मिल सकता है।

देश के इतिहास में पहली बार सुप्रीम  कोर्ट के 9 जजों ने एक साथ शपथ ली

नई दिल्ली : देश के इतिहास में पहली बार सुप्रीम  कोर्ट के 9 जजों ने मंगलवार को एक साथ शपथ ली। सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश एन.वी. रमना ने सुप्रीम कोर्ट के नए एडीशनल बिल्डिंग परिसर के ऑडिटोरियम में नए जजों को पद की शपथ दिलाई। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट के न्यायधीशों की संख्या 33 हो गई। सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की क्षमता 34 है। 

सुप्रीम कोर्ट में शपथ लेने वाले 9 जजों में 3 महिला न्यायाधीश जस्टिस हिमा कोहली, बी.वी नागरत्ना और बेला एम. त्रिवेदी शामिल हैं। इनके साथ जस्टिस सी.टी. रविकुमार, जस्टिस एम.एम. सुंदरेश, जस्टिस अभय श्रीनिवास ओक, जस्टिस विक्रम नाथ, जस्टिस जितेंद्र कुमार माहेश्वरी, जस्टिस और पी.एस. नरसिम्हा ने भी सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश की शपथ ली। 

इन 3 महिला जजों में से जस्टिस बी.वी नागरत्ना को 2027 में कम समय के लिए ही देश के सुप्रीम कोर्ट की पहली महिला चीफ जस्टिस बनने का मौका मिल सकता है।
सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों के लिए सुप्रीम कोर्ट के कोलेजियम की सिफारिशों को तो सरकार ने मंजूर कर लिया लेकिन हाईकोर्ट के लिए की गई 14 जजों के नामों की सिफारिश को केंद्र सरकार ने पुनर्विचार के लिए वापस भेज दिया है। 

सरकार के इस फैसले का सबसे ज्यादा असर कलकत्ता हाईकोर्ट पर होगा, जहां 5 न्यायाधीशों के पद जुलाई 2019 से ही खाली हैं। जबकि सुप्रीम कोर्ट के कोलेजियम ने अपनी सिफारिश पहले ही दे दी है। जबकि जम्मू और कश्मीर हाईकोर्ट के लिए एक जज का पद पिछले 21 महीने से खाली है। इसी तरह दिल्ली हाईकोर्ट के लिए 4 जजों के नाम 11 महीनों से लंबित हैं।        
 

Related Tags:
9-judges -Supreme-Court -BV-Nagaratna -सुप्रीम-कोर्ट -9-जज -बी.वी-नागरत्ना-

You can share this post!

करनाल मामले में SDM सस्पेंड, IAS अधिकारी हैं आयुष सिन्हा

जलियांवाला बाग के नए रूप को लेकर बढ़ा विवाद, जानिए सच....

Leave Comments