होम / बात देश की

Lakhimpur Kheri Violence: राहुल ने राष्ट्रपति से की मांग, सुप्रीम कोर्ट के जज करें जांच

राहुल गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर हमने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से कहा कि लखीमपुर हिंसा के आरोपी के पिता गृहराज्यमंत्री पहले उन्हें अपने पद से हटाना चाहिए।

राष्ट्रपति से मुलाकात करता कांग्रेस प्रतिनिधमंडल

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी हिंसा की घटना को लेकर कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल ने बुधवार को राष्ट्रपति से मुलाकात की। इस दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और लखीमपुर हिंसा मामले में सबसे ज्यादा सक्रिय रही कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के साथ नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और गुलाम नबी आजाद भी मौजूद रहे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से इस मुलाकात के बाद  कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर हमने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से कहा कि लखीमपुर हिंसा के आरोपी के पिता गृहराज्यमंत्री पहले उन्हें अपने पद से हटाना चाहिए, ताकि जांच में किसी तरह का दबाव ना हो। उनके पद पर बने रहने से जांच निष्पक्ष नहीं हो पाएगी ऐसे में हमने इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के 2 मौजूदा जजों से करवाने की मांग की है। 

कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल में शामिल प्रियंका गांधी वाड्रा ने मीडिया से बातचीत में बताया, राष्ट्रपति जी ने हमें आश्वासन दिया है कि वह आज ही सरकार से इस मामले पर चर्चा करेंगे। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने राष्ट्रपति के साथ मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए बताया, हमने राष्ट्रपति को लखीमपुर खीरी हिंसा के बारे में सारी जानकारी दी। राष्ट्रपति से हमारी 2 मांगें हैं- पहली इस मामले में मौजूदा जजों से स्वतंत्र जांच होनी चाहिए और दूसरी मौजूदा गृह राज्य मंत्री को या तो इस्तीफा दे देना चाहिए या बर्खास्त कर देना चाहिए। तभी मृतक किसानों के परिजनों को न्याय मिलेगा।

 

कांग्रेस नेताओं ने सोशल मीडिया पर तस्वीरें साझा कीं

कांग्रेस नेताओं की राष्ट्रपति कोविन्द से मुलाकात की तस्वीर साझा करते हुए राष्ट्रपति भवन ने ट्वीट किया- कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल जिसमें मल्लिकार्जुन खड़गे, एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, राहुल गाधी और प्रियंका गांधी थे उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से राष्ट्रपति भवन में मुलाकात की।

    

जानिए क्या है लखीमपुर खीरी हिंसा का मामला?

3 अक्टूबर, 2021 को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में जिला मुख्यालय से लगभग 60 किमी की दूरी पर तिकुनिया बनबीर पुर रोड पर किसानों और बीजेपी नेताओं में झड़प हो गई। इस दिन सूबे के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव जा रहे थे। किसान उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए खड़े थे। इस दौरान जब आरोपी आशीष अपनी जीप से जा रहे थे तभी किसानों से झड़प के चलते उनकी जीप ने 4 किसानों को रौंद दिया और इसके विरोध में किसानों ने भी 4 बीजेपी कार्यकर्ताओं की पीट-पीट कर हत्या कर दी जबकि एक पत्रकार भी इस दौरान हिंसा का शिकार बना और उसकी भी मौत हो गई। 

लखीमपुर में सभा करने वाले थे केशव प्रसाद मौर्य

आपको बता दें कि जिस दिन यह हिंसा लखीमपुर में हुई, उस दिन यूपी सरकार के मंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ वह लखीमपुर में एक सभा कर रहे थे। सोशल मीडिया में कुछ वीडियो फुटेज के जरिए अजय मिश्रा के बेटे की संलिप्तता का दावा किया गया, जिसे कोर्ट ने पहले न्यायिक हिरासत और बाद में पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

Related Tags:
Congress-Delegation -Rahul-Gandhi -Priyanka-Gandhi -Lakhimpur-Kheri -President-Ramnath-Kovind

You can share this post!

गांधी परिवार की गणेश परिक्रमा : पार्टी पर राजीव गांधी की पकड़ रही कायम

मनमोहन सिंह की हालत स्थिर, रुटीन चेकअप के लिए पहुंचे थे AIIMS

Leave Comments