होम / टीवी-सिनेमा

पुण्यतिथि विशेष: 70-80 के दशक के सबसे महंगे सिंगर थे किशोर, लता ने साथ गाने से किया था इनकार

किशोर कुमार एक बेहतरीन गायक के साथ एक बेहतरीन एक्टर भी थे। किशोर दा के लोग आज भी दीवाने हैं। और आम से लेकर खास तक हर इंसान उनके गानों से खुद को जोड़ लेता है।

फोटो- सौजन्य ट्विटर

नई दिल्ली: भारत में किशोर कुमार की एक अलग ही पहचान है। 70-80 का दशक हो या आज का हर दौर में उनके फैंस की कमी नहीं रही है। उनके गानों के लोग आज भी दीवाने हैं। किशोर कुमार 4 अगस्त 1929 को खंडवा में पैदा हुए थे। किशोर का निधन आज ही के दिन 13 अक्टूबर 1987 को हुआ था। किशोर कुमार एक गायक, अभिनेता, डायरेक्टर, प्रोड्यूसर के साथ मल्टीटैलेंटेड व्यक्ति थे। किशोर को इंडस्ट्री में किशोर दा कहकर बुलाया जाता था। बता दें कि किशोर दा के लोग आज भी दीवाने हैं, और आम से लेकर खास तक हर इंसान उनके गानों से खुद को जोड़ लेता है। उनके किस्से सुनकर लोग आज भी खिलखिला कर हंस देते हैं।

जब फीस वसूलने के लिए आधा मेकअप करके पहुंचे सेट पर

किशोर दा अपने प्रोड्यूसर से फीस वसूलने के लिए अनोखे तरीके अपनाते थे। एक बार प्रोड्यूसर ने उन्हें उनके काम की आधी फीस दी। फिर क्या था किशोर दा सेट पर भी आधा मेकअप करके पहुंच गए और सेट पर जाकर कहा कि आधी फीस तो मेकअप भी आधा। जिसके बाद प्रोड्यूसर को पूरी फीस देनी पड़ी थी। इसी तरह फेमस प्रोड्यूसर आरसी तलवार ने किशोर दा के 8000 रूपये नहीं दिए थे जिससे पैसे निकलवाने के लिए भी किशोर दा ने एक अनोखा तरीका अपनाया और आरसी तलवार के घर जाकर जोर-जोर से बोलने लगे, 'ओ तलवार, दे दे मेरे 8000' जिसके बाद वो पैसे लेकर ही माने।

लोगों की मदद करने में भी थे आगे

किशोर दा लोगों की भी खुलकर मदद करते थे। बता दें कि फिल्म 'दाल में काला' पैसों की कमी के चलते बंद हो गई थी। जिसके बाद किशोर दा को यह जैसे ही पता चला तो किशोर दा पैसों से भरा ब्रीफकेस लेकर प्रोड्यूसर के घर पहुंच गए। और प्रोड्यूसर से कहा- 'ये लो पैसे और जल्दी से फिल्म शुरू करो।'

को-सिंगर को हंसा-हंसाकर कर देते थे परेशान

किशोर दा काफी खुशमिजाज इंसान थे ऐसे में जब भी वो सेट पर पहुंचते तो महौल ही अलग होता था। किशोर दा के साथ लता मंगेशकर ने गाना गाने से भी इंकार कर दिया था। बता दें कि दरअसल हुआ यूं कि किशोर दा का जब भी लता मंगेशकर के साथ गाना रिकॉर्ड होना होता था तो किशोर कुछ समय पहले ही सेट पर पहुंच जाते थे। ऐसे में किशोर लता मंगेशकर से बहुत बाते करते और उन्हें हंसा-हंसा कर थका देते थे। इसके बाद जब भी गाने की रिकॉर्डिंग होती तो किशोर दा तो अपना गाना गाकर निकल जाते थे पर लता मंगेशकर गाने के दौरान थकी होती थीं। लता मंगेशकर के साथ जब यह कई बार हुआ तो उन्होंने किशोर दा के साथ गाना गाने के लिए ही इंकार कर दिया था।

राजेश खन्ना और अमिताभ की पहली पसंद

70 और 80 के दशक में किशोर कुमार को सुनना ही लोग ज्यादा पसंद करते थे ऐसे में उस समय किशोर दा सबसे महंगे सिंगर माने जाते थे। उस दौर में किशोर दा ने कई कलाकारों को अपनी आवाज दी थी। खासकर राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन के लिए उनकी आवाज बेहद पसंद की जाती थी। माना जाता है राजेश खन्ना को स्टार बनाने में किशोर कुमार का बड़ा योगदान रहा है।

जब किशोर कुमार को कहा गया बेकार सिंगर

शुरुआती दिनों में किशोर एक गाने की शूटिंग करने गए हुए थे। उस गाने में आशा भोसले किशोर का साथ दे रहीं थी और सांउड रिकार्डिंग कर रहे थे रॉबिन चटर्जी। वो मशीनों के पास बैठे हुए थे। किशोर कुमार और आशा भोसले ने जैसे ही वो गाना शुरू किया तो रॉबिन चटर्जी अपने कमरे से भागते हुए आए और कहा कि, गाना रोक दो। आप दोनों सिंगर्स अच्छे नहीं हैं। इन दोनों की जगह किसी और सिंगर्स को लाना पड़ेगा, यह बोलकर दोनों को गाने से बाहर कर दिया गया। जिसके बाद किशोर दा माइक छोड़कर बाहर चले गए। बता दें कि बाद में किशोर दा बेहतरीन सिंगर के रूप में उभरे और फैंस उनके दिवाने थे।

Related Tags:
किशोर-कुमार -पुण्यतिथी -death-anniversary -today-news -news-india -आज-की-ताजा-खबर

You can share this post!

हीमैन धर्मेंद्र ने शेयर किया अपनी पहली कार की वीडियो, कीमत जानकर दंग रह जाएंगे आप

पुण्यतिथि विशेष: किशोर दा की पुण्यतिथि पर मध्यप्रदेश के नेताओं ने उन्हें किया याद

Leave Comments