होम / बिज़नेस

किसान मजदूर राष्ट्र संघ की कृषि आधारित व्यवसाय एवं व्यापार पर कार्यशाला

मुकीमपुर गाँव में किसान मजदूर राष्ट्र संघ की मीटिंग का आयोजन किया गया। जिसमे किसान मजदूर राष्ट्र संघ के पदाधिकारियो ने भाग लिया।

किसान संघोष्टि

पिलखुआः हापुड़ जनपद के पिलखुआ के पास गांव मुकीमपुर जहां पर 400 से ज्यादा किसान सिर्फ गुलाब की खेती करते हैं, तथा प्रोसेसिंग यूनिट पर आगे बढ़ रहे हैं। मुकीमपुर गाँव में किसान मजदूर राष्ट्र संघ की मीटिंग का आयोजन किया गया। जिसमे किसान मजदूर राष्ट्र संघ के पदाधिकारियो ने भाग लिया। मीटिंग का उद्देश्य आत्मनिर्भर किसान था।

किसान मजदूर राष्ट्र संघ राष्ट्रीय अध्यक्ष तेग सिंह प्रधान जी ने किसानो को विस्तारपूर्वक समझाया। 
किसान मजदूर राष्ट्र संघ के सभी पदाधिकारियो (कैप्टेन मनीष चौधरी, सुन्दर सिंह बलकार नागर, सीoबीo सिंह पूर्व पीo सीo एसo अधिकारी, चतर सेन गोस्वामी, पंकज शर्मा, पोपीन कसाना,बुद्ध प्रकश त्यागी) आदि ने अपने-अपने विचार रखें।

सभा बहादुर ने कृषि से सम्बंधित एवं कृषि आधारित व्यवसाय एवं व्यापार पर कार्यशाला की, जिसमें आधुनिक नर्सरी की स्‍थापना और प्रबंधन,मधुमक्खी पालन,रेशम उत्पादन, रेशमकीट पालन, मशरूम उत्पादन, सब्जी की खेती, केचुआ खाद उत्पादन, जैविक खाद उत्पादन, हरित गृह (ग्रीन हाउस) प्रौद्योगिकी, मोती की खेती, फूलों की खेती, हल्दी की खेती, अदरक खेती एवं इन सबकी प्रोसेसिंग यूनिट तथा बाई प्रोडक्ट पर कार्य करने के लिए किसानो को प्रोत्साहित किया।

और कृषि-आधारित उद्योग-धंधों में कपास उद्योग, गुड व खांडसारी, फल व सब्जियों-आधारित, आलू-आधारित कृषि उद्योग, सोयाबीन-आधारित, तिलहन-आधारित, जूट-आधारित व खाद्य संवर्धन-आधारित आदि प्रमुख उद्योग हैं।

कृषि आधारित 500 से ज्यादा परियोजनाओं के बारे में बताया तथा कृषि आधारित व्यावसाय को परियोजित तरीके से आगे बढ़ाने एवं किसानो के सहयोग के लिय उन्नति 9 ग्रुप (UNNATI 9 GROUP) किसानों को परियोजना स्थापना एवं उसके क्रियान्वयन तथा मार्किट लिंकेज की जिम्मेदारी ली और सारे कार्यों को सफल बनांने के लिए स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने 2 लाख से लेकर 2 करोंड तक लोन देने के लिए आगे आए।
 

Related Tags:
Kisan -agri-based-Business -increase-Farmer-income -trade-union-of-kisan -Hapur-News -pilkhua-News -sabha-bahadur-singh -business-news

You can share this post!

दिल्ली में हो सकता है बिजली का संकट, रुक सकती है राजधानी की रफ्तार

कब तक कोरोना से उबरेगी ज्यादातर देशों की इकोनामी, वर्ल्ड बैंक अध्यक्ष ने कही ये बात

Leave Comments