होम / ये तो ब्रेकिंग है जी

लखीमपुर हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे की हो सकती है गिरफ्तारीः सूत्र

News India के सूत्रों ने बताया कि लखीमपुर हिंसा का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है जिसके बाद प्रशासन पर बहुत ज्यादा दबाव है।

अजय मिश्रा

लखनऊः उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे मोनू की बहुत जल्द ही गिरफ्तारी हो सकती है। News India के सूत्रों ने बताया कि लखीमपुर हिंसा का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है जिसके बाद प्रशासन पर बहुत ज्यादा दबाव है। आपको बता दें कि रविवार को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। विपक्ष इस मामले पर लगातार यूपी सरकार और प्रशासन की कार्रवाई पर सवाल उठा रहा है। 

इसके पहले बुधवार की सुबह ही केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को आज दिल्ली तलब किया गया है। उनको लेकर हो सकता है आला कमान कोई बड़ा फैसला ले। जब इसके बारे में अजय मिश्रा से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया, उनको लखीमपुर खीरी मामले के संबंध में दिल्ली नहीं बुलाया गया है। 

यह भी पढ़ेंः लखीमपुर खीरी में TMC के प्रतिनिधिमंडल ने पीड़ितों से की मुलाकात, कांग्रेस ने उठाए सवाल

वहीं उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि लखीमपुर खीरी में जो घटना हुई है, वे बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि किसी को भी राज्य का माहौल बिगाड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी। घटना के लिए जो भी दोषी होगा उस पर सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। सिद्धार्थनाथ ने कहा कि अगर किसी को भी लखीमपुर जाना है तो कुछ दिन बाद जा सकता है। उन्होंने दावा किया कि इस मामले में सभी दोषियों को यूपी सरकार सजा दिलाएगी। यूपी सरकार कुछ समय में लखीमपुर खीरी मामले का सच सामने लाकर रहेगी।

यह भी पढ़ेंः प्रियंका के बाद राहुल ने संभाला मोर्चा, इस कदम से यूपी सरकार बेचैन, जानिए..

राहुल गांधी पर सिद्धार्थ नाथ का तंज

राहुल गांधी पर तंज करते हुए सिद्धार्थनाथ ने कहा कि कांग्रेस के नंबर एक परिवार के युवराज को जोश आया कि बहन तो है ही, मैं भी पर्यटन पर निकल लूं। एक डेलिगेशन लेकर निकले, जब इजाजत नहीं मिली तो उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इतिहास गवाह है कि आपके समय में सिख समुदाय का नरसंहार हुआ है। 

राहुल गांधी किसानों के परिजनों से मिलने के लिए निकले

लखीमपुर खीरी हिंसा में जान गंवाने पाले किसानों के परिजनों से मिलने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी रवाना हो चुके हैं। वहीं इसके पहले लखनऊ सीतापुर मार्ग पर कड़ी सुरक्षा लगा दी गई है।

प्रियंका की गिरफ्तारी के बाद लखनऊ सीतापुर मार्ग पर सघन चेकिंग

प्रियंका की गिरफ्तारी के बाद राहुल गांधी लखनऊ के रास्ते सीतापुर जाने की तैयारी में थे। इसके साथ-साथ कांग्रेस के तमाम नेता इस मौके को हाथ से जाने देना नहीं चाहते हैं। लखनऊ-सीतापुर मार्ग पर आने-जाने वालों की गहन चेकिंग भी हो रही है। जबकि लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। यहां पर राहुल गांधी के आने की सूचना से पुलिस हलकान है। एयरपोर्ट मार्ग से लेकर एयरपोर्ट तक चौकसी बढ़ा दी गई है।

Related Tags:
Ajay-Mishra -Union-Minister -Monu -Lakhimpur-Kheri-Violence-Case -UP-Police -Yogi-Government

You can share this post!

दिल्ली MCD ने 1000 से ज्यादा कॉन्ट्रैक्ट टीचरों को नौकरी से निकाला

पाकिस्तान में भूकंप, 20 की मौत, ज्यादा नुकसान की आशंका

Leave Comments