होम / ऑटो/गैजेट

व्हाट्सएप्प, इंस्टा और फेसबुक सब बंद क्या एलियंस आ गए थे सोमवार को?

फोन को रीबूट कर के यानी एक बार बंद कर के फिर से रिस्टार्ट आज तक ये तरीका काम करता आया था, लेकिन रीस्टार्ट करने के बाद भी मेसेज डिलीवर नही हुए।

सांकेतिक चित्र

नई दिल्ली (रमन ममगई): सोमवार भारत में लगभग 9 या 10 बजे का वक़्त अचानक से मेरा 12 साल का बेटा मेरे पास आता है पापा वाईफाई काम नहीं कर रहा। बेटे ने कहा, मैं व्हाट्सएप पर दोस्तों को कुछ मेसेज करता हूं, मैसेज डिलीवर नही होते, फिर वही पुरानी भारतीय तकनीक अपना कर देखता हूं। फोन को रीबूट कर के यानी एक बार बंद कर के फिर से रिस्टार्ट आज तक ये तरीका काम करता आया था, लेकिन रीस्टार्ट करने के बाद भी मेसेज डिलीवर नही हुए, फिर फेसबुक खोला अपना पेज खुल गया लेकिन आगे कुछ सर्च करने पर फेसबुक भी सर्वर डाउन दिखाने लगा और मुझे भी लगने लगा नेटवर्क नही काम कर रहा है।

इस दौरान न तो वाई फाई काम कर रहा था और ना ही मोबाइल डाटा, 3 बार फोन बंद कर के खोल चुका था कई बार आजमाई  ये तरकीब भी काम नहीं कर रही थी। मेरी ये सब कवायद देख कर बेटा बोल उठा लगता है एलियन आ गए हैं और उन्होंने फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टा सब बंद कर दिया है।

जानिए क्यों बंद हुए सोशल मीडिया के प्लेटफार्म 

दुनिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाने वाला प्लेटफार्म फेसबुक, वाट्सएप इसके अलावा दुनिया में शायद सबसे ज्यादा लोकप्रिय मैसेंजर ऐप इंस्टाग्राम, जिसमें तस्वीर डालने के बाद ही कई लोगों की सुबह होती है। सोशल मीडिया के ये तीनों प्लेटफार्म सोमवार की रात को काम की हड़ताल है कि तख्ती लगाए बैठे थे। Downdetector की माने तो ये फेसबुक का सबसे बड़ा आउटेज था, दुनियाभर से 10.6 मिलियन से ज्यादा रिपोर्ट्स दर्ज की गई। पिछले नवंबर के बाद फेसबुक के शेयर में सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली।

फेसबुक के 4.9 फीसदी शेयर गिरे

इस दौरान फेसबुक के  4.9% गिर गए। इंटरनेट आउटेज को ट्रैक करने वाली वेबसाइट डाउनडिटेक्टर के अनुसार, 40 प्रतिशत यूजर्स ऐप डाउनलोड करने में असमर्थ रहे। 30 प्रतिशत को संदेश भेजने में समस्या आई और 22 प्रतिशत को वेब वर्जन में दिक्‍कत हुई। फेसबुक ने अपने यूजर्स से माफी तो मांगी लेकिन हुआ क्या ये नही बताया, हालांकि कई सिक्योरिटी एक्सपर्ट का मानना है कि ये भीतर की ही किसी गलती की वजह से ऐसा हुआ। अब कुछ का मानना था कि ये साइबर अटैक हो सकता है तो कुछ का कहना था ये डीएनएस का झमेला है।

क्या है DNS, जानिए यहां

DNS को आप इंटरनेट के बैकबोन की तरह समझ सकते हैं। दरअसल आप अपने कंप्यूटर में जब कोई वेबसाइट खोलते करते हैं तो DNS आपके ब्राउजर को ये बताता है कि किसी भी वेबसाइट की आईपी क्या है। हर वेबसाइट की आईपी होती है। ट्विटर या फेसबुक के केस में DNS आपके ब्राउजर को जानकारी देता है कि ट्विटर और फेसबुक की आईपी क्या है। ऐसे में फेसबुक और ट्विटर का अगर रिकॉर्ड डीएनएस डेटाबेस से मिट जाता है तो आप और आपका कंप्यूटर ये नहीं जान पाएंगे कि फेसबुक और ट्विटर क्या हैं और उन्हें ऐक्सेस भी नहीं कर पाएंगे। ख़ैर कंपनी ने माफी तो अपने यूजर्स से मांगी लेकिन वास्तव में हुआ क्या ये नहीं बताया

ट्विटर बना सहारा

नेटवर्क है या नहीं ये जानने का अब जो सहारा था वो था ट्विटर। ट्विटर पर फेसबुक ओर व्हाट्सएप से जुड़े मीम्स की बाढ़ आ गयी ,लोग तरह तरह से अपने दिल की बात मीम के जरिये शेयर करने लगे। खैर सुबह हुई जब तब तक सब कुछ नॉर्मल था। भारत में मंगलवार की सुबह उठते ही लोगों ने सबसे पहले उठ कर अपना फ़ोन चेक किया तो राहत की बात थी कि सब कुछ नॉर्मल था। व्हाट्सएप्प पर मैसेज आने जाने की घण्टी बज रही थी तो फेसबुक पर बेजेपी समर्थक गुप्ता जी से लेकर किसान आंदोलन के समर्थक विर्क साहब के पोस्ट और कमेंट नजर आने लगे थे दुनिया पर एलियन हमले का खतरा टल चुका था। 
 

Related Tags:
WhatsApp -Facebook -Instagram -Mark-Zukerberg -Social-Media

You can share this post!

Amazon सेल में पाएं Asus के इस लैपटॅाप पर 28,000 की बचत

Mahindra Thar की मार्केट में धूम, समय पर डिलीवरी तक नहीं दे पा रही महिंद्रा

Leave Comments